तीस अगस्त तक छात्रों को बांटी जाएंगी ड्रेस

तीस अगस्त तक छात्रों को बांटी जाएंगी ड्रेसgaonconnection

ललितपुर। परिषदीय प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक विद्यालयों के बच्चों को अभी तक ड्रेस नहीं मिली है। फिलहाल शासन द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय को धनराशि प्राप्त हो गयी है, जो विद्यालय की प्रबंध समिति के खाते में भेजी जाएगी और प्रत्येक बच्चे को दो-दो सेट ड्रेसें मिलेंगी।

अभी जिले के सभी बच्चे पुरानी ड्रेस में ही विद्यालयों में आ रहे हैं। ललितपुर जिले के परिषदीय प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में एक लाख 56 हजार 463 बच्चों के लिए राज्य परियोजना निदेशक सर्व शिक्षा अभियान जीएस प्रियदर्शी ने चार करोड़ 69 लाख 38 हजार 900 रुपयों की धनराशि ड्रेस के लिए भेजी है।

क्रय समिति पंजीकृत छात्रों की संख्या के आधार पर गुणवक्तायुक्त ड्रेस खरीदी जाएगी। ड्रेस की सिलाई महिला समूह, स्वयं सहायता समूह या स्थानीय दर्जी से नाप लेकर बनवायी जाएगी और इसका भुगतान चेक से होगा।

नामित होंगे प्रभारी अधिकारी

निशुल्क यूनीफार्म वितरण के लिए जनपद स्तरीय समिति एमएससी और सचिव ब्लॉकों पर नामित रहेंगे, जो प्रसाशनिक और वित्तीय व प्रक्रिया से संबंधित जानकारी देंगे। नामित अधिकारी स्कूलों की प्रबंध समिति सचिव, अध्यक्ष को प्रशिक्षित कर नियमों, दिशानिर्देशों की जानकारी देंगे।

जिलास्तरीय समिति की देखरेख होगा ड्रेस वितरण

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में समिति गठित हुई है। जिसमें बेसिक शिक्षा अधिकारी सदस्य सचिव होंगे। मुख्य विकास अधिकारी महाप्रबंधक, प्रबंधक उद्योग विभाग, कोषाधिकारी प्रार्चाय डाईट, डीआईओएस जिला पंचायत राज अधिकारी को शामिल किया गया। यह समिति गुणवक्तापरक यूनीफार्म का वितरण सहित अनुश्रवण का उत्तरदायित्व देखेगी।

घटिया ड्रेस वितरण पर होगी FIR

घटिया ड्रेस वितरण पर शिकायतें सही पाए जाने पर विद्यालय के इंचार्ज, प्रधानाध्यापक या प्रबंध समिति के अध्यक्ष के खिलाफ FIR के साथ-साथ धन की वसूली होगी। प्रकरण में लिप्त अधिकारियों पर जिलाधिकारी द्वारा दण्डात्मक कार्रवाई अमल में लायी जाएगी।

विशेष जांच दल का होगा गठन

मण्डलायुक्त द्वारा विशेष दल का गठन किया जाएगा। दल 15-15 दिन में तीन माह तक निःशुल्क यूनीफार्म वितरण का निरीक्षण करेगा। जिसमें अन्तर्जनपदीय निरीक्षण की व्यवस्था की गयी है। जिलाधिकारी को रिपोर्ट के निष्कर्षों की जानकारी उपलब्ध करायी जाएगी, रिपोर्ट के आधार पर मण्डलायुक्त को सूचना देंगे।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top