टमाटर और तुलसी का शर्बत

टमाटर और तुलसी का शर्बतgaonconnection

सेहत की रसोई कॉलम में हम अपने पाठकों के लिए लेकर आते हैं एक से बढ़कर एक पारंपरिक व्यंजनों से जुड़ी कई नायाब जानकारियां और इन व्यंजनों के औषधीय गुणों की जानकारी देते हैं हमारे ‘हर्बल आचार्य’ डॉ दीपक आचार्य सेहत और किचन का तड़का हर सप्ताह एक खास व्यंजन के साथ हम परोसते हैं, अपने सभी पाठकों के लिए। सेहत की रसोई यानि बेहतर सेहत आपके बिल्कुल करीब।

हमारे बुजुर्गों का हमेशा मानना रहा है कि सेहत दुरुस्ती के सबसे अच्छे उपाय हमारी रसोई में ही होते हैं। इस कॉलम के जरिए हमारा प्रयास है कि आपको आपकी किचन में ही सेहतमंद बने रहने के व्यंजन से रूबरू करवाया जाए। सेहत की रसोई में इस सप्ताह हमारे मास्टरशेफ भैरव सिंह राजपूत पाठकों के लिए ला रहे हैं एक खास ‘टमाटर तुलसी शर्बत’ की रेसिपी।

विधि

ताजे लाल टमाटरों को साफ धोकर काट लें और इसे जूसर में डाल दें। इसी जूसर में 200 मिली पानी, तुलसी की हरी पत्तियां, हरी मिर्च, जीरा पाउडर, सेंधा नमक आदि डालकर ग्राइंड कर लें। ग्राइंड हो जाने के बाद इसे छान लें। छानने के बाद किसी एक पात्र में इसे डालकर रेफ्रिजरेट कर दें। कुछ देर बाद अच्छे से ठंडा होने पर इसे कांच के गिलास में डाल दें, आप चाहें तो इस पर एक दो आइस क्यूब्स भी डाल सकते हैं। पुदीना की पत्तियों से गार्निश करें और मजे से पिएं। यकीन मानिए आपकी पेट की दुरुस्ती के लिए इससे अच्छा कुछ नहीं। इसके गुणों की वकालत तो हमारे एक्सपर्ट हर्बल आचार्य ही करेंगे।

क्या कहते हैं हर्बल आचार्य

गर्मियों में शरीर में अक्सर होने वाली थकान, ज्यादा पसीना आना और कमजोरी दूर करने के लिए आदिवासी टमाटर के साथ फराशबीन को उबालकर सूप तैयार करते हैं और दिन में दो बार चार दिनों तक देते हैं, माना जाता है कि यह सूप शक्तिवर्धक होता है। मुझे जानकारी दी गयी की टमाटर के सेवन से भूख मिटती है और शरीर को ऊर्जा मिलती है। गुजरात के हर्बल जानकार तो वजन कम करने वाले लोगों को टमाटर खाने की सलाह देते हैं।

इन बातों पर विचार किया जाए तो समझ आता है कि वजन कम करने के लिए मास्टरशेफ की ये रेसिपी काफी प्रभावशाली साबित हो सकती है। वैसे टमाटर का उपयोग हर भारतीय किचन में सब्जी बनाने के लिए किया जाता है। पातालकोट के आदिवासियों के अनुसार टमाटर दांतों और हडि्डयों की कमजोरी दूर करता है। जिन लोगों को रक्त-अल्पता की शिकायत है उन्हें एक गिलास टमाटर का रस पिलाया जाए तो रक्तहीनता दूर होकर खून की वृद्धि होती है। इस रेसिपी में तुलसी का होना दर्शाता है कि ये शर्बत पेट में ठंडक जरूर लाएगा। तो भई, अब देरी किस बात की, फटाफट इस शर्बत को बनाने की तैयारी करें।

Tags:    India 
Share it
Top