जेटली का शायराना अंदाज़

Jamshed QamarJamshed Qamar   1 Feb 2017 3:46 PM GMT

जेटली का शायराना अंदाज़अरुण जेटली

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 2017-18 का बजट संसद में पेश किया। भारत के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ जब आम बजट और रेल बजट एक साथ पेश किया गया। जेटली ने बजट जैसे गंभीर विषय को पेश करने के दौरान शेरो-शायरी के अंदाज को अपनाते हुए अपनी बात ऱखी। उन्‍होंने अपने बजट भाषण के शुरुआती 15 मिनट में ही एक शेर पढ़ा,

‘इस मोड़ पर घबराकर न थम जाइए आप’

जो बात है नई उसे अपनाइए आप

डरते हैं नई राह पर क्यूं चलने से

हम आगे आगे चलते हैं आइए आप’

वित्त मंत्री के इस शेर से सभा में तालियां गूंजने लगीं। आपको बता दें कि बजट के दौरान शेरो शायरी एक रवायत है। हर साल बजट के दौरान शायरी पढ़ी जाती है। आइये वीडियो में देखें कि शेर पढ़ते वक्त अरुण जेटली का क्या था अंदाज़
वीडियो साभार - लोकसभा टीवी

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top