कमल का निशान को बता रहे जीत की पहचान

कमल का निशान को बता रहे जीत की पहचानप्रतीकात्मक चित्र

लखनऊ। लखनऊ पश्चिम विधानसभा क्षेत्र से मनोज कुमार गुप्ता भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी के तौर अपना प्रचार शुरू कर चुके हैं। उनके होर्डिंग बैनर इलाके में जहां तहां दिखाई दे रहे हैं। इसी तरह से सीतापुर में विधानसभा क्षेत्र 146 से मनीष शुक्ला भी बतौर भाजपा प्रत्याशी अपना झंडा बिल्ला सेट कर चुके हैं। ये दो क्षेत्र तो केवल नजीर भर हैं। प्रदेश की कम से कम 300 विधानसभा सीटों पर भाजपा के नेता बिना टिकट घोषित हुए प्रचार अभियान में जुटे हुए हैं। अब तक आ चुकी सर्वे रिपोर्ट में भाजपा को विधानसभा चुनाव में सबसे बड़े दल के तौर पर उभरने की संभावना जताई जा रही है। जिसका असर यह है कि विभिन्न इलाकों में कई-कई नेता अभी से खुद को उम्मीदवार मान चुके हैं। जिसमें सबसे अधिक नये चेहरे ही खुद को विधायक पद का दावेदार मानने लगे हैं।

सर्वे रिपोर्ट से बढ़ा टिकट का वजन

प्रदेश में भाजपा के फिलहाल 42 विधायक हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में पार्टी की बहुत बुरी गत हुई थी। मगर लोकसभा चुनाव में अपने प्रदर्शन को बीजेपी ने कहीं बेहतर करते हुए 80 में से 73 लोकसभा सीटों पर कब्जा जमाया था। जिसमें 325 के करीब विधानसभा सीटें भाजपा ने जीती थीं। मगर एक बार फिर से विधानसभा चुनाव की तैयारी है। ऐसे में कई सर्वे रिपोर्ट आ चुकी हैं। जिनमें बीजेपी को बसपा और सपा से आगे बताया गया है। हालिया रिपोर्ट इंडिया टुडे ग्रुप की आई है। जिसमें भाजपा को बहुमत के बहुत नजदीक बता दिया गया है। ऐसे में अब पार्टी के टिकट का वजन भी बढ़ गया है।

इन नामों पर बढ़ी सुर्खियां

खासतौर पर लखनऊ में ही नजर दौड़ाएं तो लखनऊ पूर्व की नई विधानसभा सीट पर गोपाल जी टंडन के साथ विश्वविद्यालय में एबीवीपी से अध्यक्ष रहे संतोष भी जोरआजमाइश की तैयारी में है। पश्चिमी विधानसभा सीट पर जोरदार लड़ाई है, यहां पूर्व विधायक सुरेश श्रीवास्तव के अतिरिक्त, राज्यसभा सांसद कुसुम राय के अतिरिक्त केजीएमयू के वरिष्ठ चिकित्सक जो कि सेवानिवृत्ति के नजदीक हैं, उनका भी नाम लिया जा रहा है। कैंट मेंसुरेश तिवारी के साथ ही हाल ही में भाजपा में आने वाले अरविंद त्रिपाठी गुड्डू को भी विधायकी के टिकट के नजदीकी आता माना जा रहा है। सरोजनी नगर क्षेत्र में पूर्व मंत्री वीरेंद्र तिवारी ने लड़ने की तैयारी की है। जबकि उनके अलावा भी कई कद्दावर नेता इस इलाके में भाजपा के टिकट के लिए लगे हुए हैं। लखनऊ उत्तर क्षेत्र में फिलहाल कांग्रेस का दामन छोड़ कर दो साल पहले बीजेपी में आए डॉ नीरज बोरा का दावा मजबूत माना जा रहा है। मगर कई और कद्दावर नाम इस क्षेत्र में किस्मत आजमाने के लिए लगे हुए हैं। राजधानी की ही किसी सुरक्षित विधानसभा सीट से उम्मीद की जा रही है कि महापौर डॉ दिनेश शर्मा को भी भाजपा टिकट दे दे।

टिकटों के बंटवारे पर आज मंथन, अमित शाह होंगे राजधानी में

अमित शाह 14 अक्टूबर को एक दिवसीय प्रवास पर उत्तर प्रदेश रहेंगे। प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने बताया कि भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित भाई शाह 14 अक्टूबर को प्रात 10:15 पर लखनऊ हवाई अड्डे पहुंचेंगे। सड़क मार्ग से 12 बजे कानपुर ब्रजेन्द्र स्वरूप पार्क में आयोजित कार्यक्रम में भाग लेंगे। शाह वापस 3:30 बजे दोपहर लखनऊ में प्रदेश कार्यालय आएंगे। शाम 8:40 बजे दिल्ली के लिए प्रस्थान करेंगे। बीजेपी प्रवक्ता ने बताया कि भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एव सांसद तथा भाजपा प्रदेश प्रभारी ओम प्रकाश माथुर प्रदेश कार्यालय में होने वाली संगठनात्मक बैठक का मार्गदर्शन किया। बैठक को प्रदेश प्रभारी के अतिरिक्त राष्ट्रीय सहमहामंत्री संगठन शिवप्रकाश, प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल संबोधित करेंगे। हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने बताया कि राष्ट्रीय सहमहामंत्री संगठन शिवप्रकाश प्रदेश मुख्यालय में संगठनात्मक बैठक का मार्गदर्शन करेगें और 14 अक्तूबर को कानपुर में पार्टी के कार्यक्रम में भाग लेंगे। प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने बताया कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य प्रदेश मुख्यालय पर संगठनात्मक बैठक में भाग लेंगे तथा 14 अक्टूबर को राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित भाई शाह का लखनऊ हवाई अड्डे पर स्वागत करेंगे एवम् राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ बृजेन्द्र स्वरूप पार्क कानपुर के कार्यक्रम में भाग लेंगे।

Share it
Top