यूपी विधानसभा चुनाव : मायावती सीएम के रूप में पहली पसंद, भाजपा को मिलेंगी सबसे ज्यादा सीटें

Ashish DeepAshish Deep   13 Oct 2016 4:59 PM GMT

यूपी विधानसभा चुनाव : मायावती सीएम के रूप में पहली पसंद, भाजपा को मिलेंगी सबसे ज्यादा सीटेंमायावती, बसपा प्रमुख

लखनऊ। यूपी में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले हुए एक ओपिनियन पोल में इस बार त्रिशंकु विधानसभा का अनुमान जताया गया है। पोल में कहा गया है कि सत्तारूढ़ सपा सरकार के हाथ से इस बार सत्ता फिसलती दिख रही है। चुनाव में भाजपा को सबसे ज्यादा सीटें मिलने की संभावना है। हालांकि सीएम के रूप में जनता की पहली पसंद बसपा प्रमुख मायावती हैं।

इंडिया टुडे-एक्सिस पोल के मुताबिक 403 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा को आगामी चुनाव में 170-183 सीटें मिलेंगी। हालांकि वह बहुमत की सरकार नहीं बना पाएगी। क्योंकि इस बार त्रिशंकु विधानसभा की आशंका है। बहुमत के लिए किसी भी दल को कम से कम 202 सीटों की जरूरत पड़ेगी।

बसपा पाएगी 115-124 सीटें

बसपा के बारे में पोल में कहा गया है कि उसे 115-124 सीटें मिलेंगी। प्रदेश में बसपा के सरकार बनाने की ज्यादा संभावना इसलिए जताई जा रही है क्योंकि मायावती जनता के बीच सीएम के रूप में पहली पसंद हैं। पोल में शामिल 31 फीसदी लोग चार बार यूपी की मुख्यमंत्री रहीं मायावती को पांचवी बार भी इस पद पर देखना चाहते हैं। जबकि 27 फीसदी लोगों की पसंद अखिलेश यादव हैं।

सपा को मिलेगी 94-103 सीटें

मायावती पर जनता की राय यह है कि उनके शासनकाल में कानून-व्यवस्था की स्थिति बेहतर रहती है। इस मामले में उन्हें 64 फीसदी लोगों ने पसंद किया जबकि अखिलेश यादव को सिर्फ 17 फीसदी लोगों ने पसंद किया। पोल में सपा को 94-103 सीटें मिलने की संभावना है।

कांग्रेस को होगा नुकसान

कांग्रेस के बारे में कहा गया है कि उसे इस चुनाव में सबसे ज्यादा नुकसान होगा। शीला दीक्षित को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाए जाने के पार्टी के ऐलान को जनता ने खास तवज्जो नहीं दी है। सिर्फ एक फीसदी जनता उनको सीएम के रूप में देखना चाहती है। उसे आगामी चुनाव में 8-12 सीटें मिलने की संभावना है।

राजनाथ तीसरे सबसे चहेते उम्मीदवार

भाजपा की ओर से अब तक मुख्यमंत्री पद का कोई उम्मीदवार घोषित नहीं किया गया है लेकिन जनता की राय में गृहमंत्री राजनाथ सिंह मुख्यमंत्री पद के लिए तीसरे सबसे पसंदीदा शख्सियत हैं। 17 फीसद लोगों ने उन्हें पसंद किया है जबकि योगी आदित्यनाथ को 14 फीसदी ने इस पद के लिए पसंद किया है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top