Top

सदन में बहुमत सिद्ध करें अखिलेश : केशव प्रसाद मौर्य

सदन में बहुमत सिद्ध करें अखिलेश : केशव प्रसाद मौर्यकेशव प्रसाद मौर्य। प्रतीकात्मक फोटो।

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सांसद केशव प्रसाद मौर्य ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को सदन में बहुमत सिद्ध करने की चुनौती दी है। उन्होंने आरोप लगाया कि हजारों करोड़ रुपये की लूटखसोट के चलते राज्य को इस सियासी संकट का सामना करना पड़ रहा है।

मगर हारी उत्तर प्रदेश की जनता है

केशव प्रसाद मौर्य ने रविवार को आयोजित प्रेसवार्ता में कहा कि प्रदेश में संवैधानिक संकट है। अखिलेश सरकार विश्वास खो चुकी है इसलिए उसको बहुमत साबित करना चाहिये। अखिलेश सरकार अल्पमत में है, नीतिगत निर्णय लेने पर रोक लगे। उन्होंने कहा कि मंत्री के बर्खास्त होने से समस्या का हल नहीं होगा, सपा सरकार को अब जनता बर्खास्त करेगी। चाचा भतीजा के जंग में उत्तर प्रदेश फंसा हुआ है। परिवार की लड़ाई में कौन जीता पता नहीं, पर हारी उप्र की जनता है। उन्होंने कहा कि पूरा प्रशासन अस्त-व्यस्त है और जनता की कोई सुनवाई नहीं है।

सेफई परिवार ने जनता के लिए कोई काम नहीं किया

सत्ता का दुरूपयोग कर हजारों-लोखों करोड़ जनधन की लूट खसोट चार साल तक प्रदेश में होती रही तो मुख्यमंत्री चुप क्यों रहे? समाजवार्दी पार्टी की लडा़ई में जनता का भारी नुकसान हुआ है। भाजपा चाहती थी सरकार ठीक से चले, परन्तु सरकार की हालत जनता के सामने है। सारी लड़ाई लूट के पैसे के बंटवारे की है। यदि अखिलेश इतने अच्छे और ईमानदार है तो प्रदेश भर में जमीनों पर अवैध कब्जे क्यों हुए? प्रदेश भर में खनिज घोटाला क्यों हुआ? प्रदेश भ्रष्टाचार और अपराध से क्यों त्रस्त रहा? प्रदेश में गुण्डाराज माफियाराज को सरक्षण क्यों रहा और महिलाओं की सुरक्षा क्यों नहीं सुनिश्चित हुई? विधायक अखिलेश के पास है या शिवपाल के इसका परीक्षण सदन में ही हो सकता है।

तब मुख्यमंत्री चुप क्यों रहे?

बसपा और सपा के भ्रष्टाचार के कारण प्रदेश के दलित और यादव समाज के लोग उत्तर प्रदेश मे भारतीय जनता पार्टी की नेतृत्व की सरकार के लिए तत्पर है। शाहजहांपुर के पत्रकार जगेन्द्र की हत्या में उनके मंत्री राममूर्ति वर्मा का नाम आने पर भी मुख्यमंत्री जी चुप क्यों रहे। गोण्डा में सीएमओ के साथ मारपीट करने वाले और युवक को गाली-गलौज कर धमकाने वाले आडियो के आने के बाद भी मंत्री विनोद सिंह पंडित पर मुख्यमंत्री चुप क्यों रहे। देवरिया के मंत्री रामप्यारे सिंह द्वारा पीसीएस को गाली-गलौज कर धमकाने वाला आडियो आने पर मुख्यमंत्री चुप क्यों। अम्बेडकर नगर से मंत्री राममूर्ति वर्मा द्वारा पुलिस अधिकारी को धमकाने का आडियो आने पर मुख्यमंत्री चुप क्यों?

दो दल बनें या एक जीतेगी भाजपा

सपा में परिवार ही पार्टी है। जबकि भाजपा में पार्टी ही परिवार है। प्रदेश को सपा-बसपा मुक्त बनाने के लिए भाजपा के अभियान को जनता का सहयोग चाहिए। सपा दो दल बनकर लड़े चाहे एक साथ लड़ें, 2017 में 2014 की तरह विजय भाजपा की होगी।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.