अखिलेश ने कन्नौज में कसा प्रधानमंत्री पर तंज, लोगों से कहा, मोदीजी को ऐसा इत्र लगाइयेगा महीना भर ख़ुश्बू न जाए”

अखिलेश ने कन्नौज में कसा प्रधानमंत्री पर तंज, लोगों से कहा, मोदीजी को ऐसा इत्र लगाइयेगा महीना भर ख़ुश्बू न जाए”कन्नौज में सपा की रैली के दौरान सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव।

अजय मिश्रा

कन्नौज। इत्र नगरी कन्नौज में मंगलवार को अखिलेश यादव ने रैलियों को संबोधित करते हुए इत्र कारोबारियों और किसानों को तो लुभाया ही इसी बहाने प्रधानमंत्री मोदी पर भी तंज सका। उन्होंने लोगों से कहा, “पीएम नरेंद्र मोदी बुधवार को यहां आ रहे हैं। उनको ऐसा इत्र भेंट करना कि कोशिश करते रहें, कपड़े धुलवाते रहें, मगर एक महीने तक उनके कपड़ों से इत्र की खु़श्बू न जाए।”

मुख्यमंत्री ने लोगों से सपा प्रत्याशियों को जिताने की अपील करते हुए कहा, “ये विधायक का नहीं मुख्यमंत्री और सरकार बनाने का चुनाव है। देश की निगाहें उत्तर प्रदेश पर लगी हैं। सपा-कांग्रेस का गठबंधन चुनाव में 300 सीटें जीतेगा। समाजवादी पार्टी क बार फिर पूर्ण बहुमत से सरकार बनाने जा रही है।” मंगलवार को बोर्डिंग ग्राउंड पर चुनावी जनसभा को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने इससे पहले सिकंदरपुर के भारतीय शिक्षा सदन इंटर कालेज में भी जनसभा को संबोधित किया। जनसभा में मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि कन्नौज जिला मुख्यालय को जोड़ने के लिए तिर्वा तक फोरलेन बन चुका है। आने वाले समय में औरैया तक इसे बनाया जाएगा। लोगों को अब सिफारिश की जरूरत नहीं पड़ती है। डायल 100 लगाते ही पुलिस पहुंचती है। लाखों लोगों ने ऐसे ही 100 नंबर लगाया कि देखें पुलिस आती भी है या नहीं। कन्नौज के लोग भी कभी चेक कर लेना कि 100 नंबर से क्या होता है।

इत्र के लिए कितना भी पैसा लगाना पड़े लगाएंगे-अखिलेश

कन्नौज की पहचान पूरे देश में इत्र से है। विश्व उसे महकाने के लिए चाहे जितना भी पैसा लगाना पड़े सरकार लगाएगी। इसके लिए वह खुद कुछ इत्र व्यवसाइयों के साथ फ्रांस गए थे। इसकी शुरूआत भी कन्नौज में परफ्यूम पार्क बनाने से कर दी गई है। अभी तो लागत 250 करोड़ की है। आने वाले समय में समाजवादी इत्र भी दुनिया में जाना जाएगा।

बोर्डिंग ग्रांउड पर जनसभा में मुख्यमंत्री ने जनता से भावनात्मक रिश्ता ड़ा। उन्होंने कहा कि कन्नौज को 24 घंटे तभी बिजली मिलती है जब सूबे में समाजवादी सरकार होती है। अब तो उत्तर प्रदेष में 24 घंटे बिजली कर दी है। इससे विपक्षी परेशान हैं कि वह अब 26 घंटे बिजली नहीं दे पाएंगे। घंटे तो बढ़ नहीं सकते।

हमारा और डिम्पल का क्षेत्र है कन्नौज

अखिलेश यादव ने कहा कि कन्नौज उनका और डिम्पल का क्षेत्र है। इसलिए प्रत्याशियों को अच्छे वोटों से जिता देना। यहां बहुत ही विकास कार्य हुए हैं। तमाम पुल और पुलियां बनाने का काम किया है। अगर कोई छूट गया है तो उसे भी बनवा दिया जाएगा।

पीएम और पार्टी का नाम लिए बिना कसा तंज

‘‘एक पार्टी के नेता हैं जो रेडियो और टेलीविजन पर मन की बात कर रहे हैं। पिछले कई वर्शों से जनता उनके मन की बात नहीं समझ पाई है। अच्छे दिन के बहाने सब लोगों को लाइन में खड़ा कर दिया। 500 और 1000 के नोट बंद होने से परेशानी हो गई। लोगों को लाइन में खड़ा करा दिया।‘‘

हाथी से सावधान, बिना नगदी के टिकट नहीं देती

मंगलवार को मुख्यमंत्री ने कहा कि हाथी से सावधान रहना। साइकिल तो कहीं भी रख सकते हो, लेकिन हाथी कहां लेकर जाओगे। घर पर ले गए तो टूट जाएगा। बिना नगदी के हाथी वाली पार्टी टिकट भी नहीं देती है। सीएम अखिलेश यादव ने कहा समाजवादी पेंशन के जरिए सूबे की 55 लाख महिलाओं को लाभ दिया गया है। सरकार बनी तो 500 रूपये से बढ़ाकर 1000 रूपये मासिक पेंशन दी जाएगी। किसी भी गरीब परिवार की महिला इससे वंचित नहीं होगी। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि सरकारी बसों में माता-बहनों को 50 फीसदी किराए पर छूट मिल रही है। आगे एक-एक प्रेशर कुकर भी दिए जाएंगे, ताकि खाना जल्दी बन सके।

कन्नौज का खरबूजा सबसे मीठा

चुनावी जनसभा में मुख्यमंत्री जिले के खरबूजा और तरबूज का जिक्र करना नहीं भूले। उन्होंने कहा कि दिल्ली के लोग पानीपत के खरबूजा और तरबूज को पसंद करते हैं, लेकिन कन्नौज के सिकंदरपुर और छिबरामऊ का खरबूजा अगर पहुंच जाए तो यहां से मीठा कहीं नहीं निकलता। जिले में 100 एकड़ जमीन पर मंडी बन रही है। इससे किसानों को लाभ मिलेगा। किसानों को लाभ देने वाले कारोबार को वह बढ़ावा देंगे। अगर आलू आधारित कारखाना कोई लगाएगा तो सस्ती जमीन दिला दी जाएगी। नोट जमा कराने के बाद भी कालाधन का हिसाब नहीं दिया गया है। मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार पर जुबानी हमला बोलते हुए कहा कि कई जान चली गईं लाइन में लगते हुए। उनके परिजनों की मदद भी सपा सरकार ने दो-दो लाख देकर की। कहा, धन काला और सफेद नहीं होता है। टैक्स देने वाला सफेद और न देने पर व्यापार करने वाला काला धन कहलाता है। पूरा देश का पैसा जमा करा लिया। गुमराह और साजिश का काम किया।

Share it
Top