किसी सरकारी योजना में नहीं हुआ भेदभाव, आरोप लगाने वालों को जनता देगी जवाब : अखिलेश यादव

किसी सरकारी योजना में नहीं हुआ भेदभाव, आरोप लगाने वालों को जनता देगी जवाब : अखिलेश यादवअखिलेश यादव

लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पांचवें चरण के मतदान की पूर्व संध्या पर सरकारी योजनाओं में भेदभाव के आरोपों को सिरे से नकारते हुए, सभी वर्गों को लाभ दिये जाने के साक्ष्य प्रस्तुत किये।

उन्होंने लैपटॉप और कन्या विद्याधन योजना में टॉप हुए लाभार्थी विद्यार्थियों के नाम बताए। जिसके आधार पर सभी वर्ग के प्रतिनिधित्व का दावा अखिलेश यादव ने किया। उन्होंने कहा कि, पीएम मोदी बताएं कि पिछले करीब तीन साल में उन्होंने कौन से विकास किये। जिससे प्रदेश को लाभ मिला। जिसके लिए वाराणसी के गंगातट से लेकर किसी भी गांव में वे खुली बहस के लिए राजी हैं।

अखिलेश यादव ने यहां मीडिया से शाम को रुबरु हुए। उन्होंने कहा कि, इस बात पर भरोसा है समाजवादी पार्टी की सरकार बनेगी। हम बीजेपी और खासतौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहेंगे कि आपकी रैली हो रही हैं। आप मन की बात कर रहे हैं। मैं जिस रैली में जाता हूं उस क्षेत्र में जहां वचुनाव नहीं है वहां नोटबंदी का असर दिख रहा है। वे काम की बहस उपलब्धियों की बहस जहां करना चाहें, वह कोई भी गांव तय कर सकते हैं। गंगा मइया के किनारे भी तय कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि, मैंने रमजान पर बिजली ज्यादा दी है और दिवाली पर नहीं दी, ये आरोप है। मगर मैं दावे से कहता हूं कि, काशी को सबसे ज्यादा बिजली दी है।

केंद्र सरकार को आड़े हाथ लेते हुए अखिलेश ने कहा कि, जनता ये जाने प्रदेश के लिए केंद्र की क्या उपलब्धि हैं।उन्होंने कहा कि, अपने कहा कि किसानों की आमदनी बढ़ाना चाहते हैं।पीएम किसानों के कर्ज माफ कभी भी कर सकते हैं। उसके लिए जरूरी नहीं है कि उप्र में आपकी सरकार हो। ऐसे में फैसलों की जरूरत तो महाराष्ट्र के किसान, मध्य प्रदेश के किसान भी कर रहे हैं। वहां भी कर्ज माफी होगी?

अखिलेश यादव ने कहा कि, हम किसानों की मदद करेंगे। किसान सुरक्षा बीमा किया है। मदर डेयरी का प्लांट लगा रहे हैं। हम पराग को लाभ देना चाहते हैं। हम पूछना चाहते हैं कि केंद्र सरकार ने क्या मदद की है। हमने उप्र के किसानों के लिए एडवांस में खाद खरीदी है ताकि किसानों को तकलीफ न हो। हमने बड़े पैमाने पर किसानों को काम दिया है। प्रधानमंत्री कहते हैं कि 2019 में हिसाब किताब लीजियेगा। मगर लोहिया जी ने कहा है कि जिंदा कौमें पांच साल इंतजार नहीं करती हैं। जो समय बीता है उसका हिसाब दीजिये। जिंदा कौमे पांच साल इंतजार नहीं करते हैं। चुनाव पूर्वाचंल में चल रहा है।

हमसे कोई पूछे तो हम बताएंगे कि हमारा एक्सप्रेस वे सुल्तानपुर अमेठी से होते हुए बलिया तक पहुंचेगा। आपने इससे बड़ी कोई सडक बनाई हो तो बताइए। अनेक फोर लेन बनी हैं। बुनकर बाजार बनाया है। एम्स की जगह दे दी है। सबसे कीमती जमीन गोरखपुर में दी है। 500 बेड और 200 बेड अस्पताल बनाया है। कुशीनगर में हवाई पट्टी। बहरराइच से श्रावस्ती फोर लेन बनी।

बिना भेदभाव के संचालित की परियोजनाएं

55 लाख महिलाओं को हम समाजवादी पेंशन दे रहे हैं। 18 लाख लैपटॉप दिये हैं। हम भेदभाव के साथ स्कीम नहीं चलाते हैं। हमारे पास कई सूची हैं। गोंडा में आपने कहा कि नकल से लोग पास हो रहे हैं। जिन बहनों, बच्चों के लिए काम किया है। कन्या विद्याधन जिन लोगों को दिया है। सब मेहनत और परिश्रम से पाये हैं। हम सभी से अपील करेंगे कि ऐसे लोगों को चुनाव में सबक सिखाएं। अगर कहीं भी भेदभाव हुआ है तो भाजपा के लोग उसको सामने लाएं। जिन बच्चों को लैपटॉप मिला है, सबसे ऊपर जो नाम हैं आकांक्षा वर्मा, निशा शुक्ला, धर्मेंद्र तिवारी, राजेंद्र यादव, अल्का, गौतम सिंहके नाम गिनाए। कन्या विद्याधन में खुशबू मिश्रा, अनामिका द्विवेदी, शिवानी पांडेय का नाम टॉप में होने का नाम गिनाया। अखिलेश ने कहा कि, मैं जानना चाहता हूं कि किन लोगों ने भेदभाव किया है।

समाजवादी एंबुलेंस से दो करोड़ लोगों को मदद पहुंची है। इसलिए जनता काम और उपलब्धियों के आधार पर चयन करेगी। आज कुछ भी ताने के लिए नहीं है। सरकार ने किसानों और जवानों को बिना भेदभाव के आगे बढ़ाया। मायावती पर आरोप न लगाने को लेकर उन्होंने कहा कि, आपने हमारी बुआ की याद दिला दी। आपने बुआ का नाम क्यों नहीं लिया, ऐसा नहीं है। उन्होंने कहा कि 23 महीने में लखनऊ से आगरा एक्सप्रेस वे बना दिया।

अगली सरकार में 30 महीने में बलिया तक एक्सप्रेस वे बना देंगे। उन्होंने आगे एक बार फिर से हमला बोला और कहा कि कुछ तो बताएं केंद्र सरकार। कुछ तो बताए केंद्र सरकार। जिन्होंने अच्छे दिन लाएंगे, मैं उनसे जानना चाहता हूं।

उत्तर प्रदेश की जनता ने पांच साल तक विकास देखा। जनता ने समझ लिया है वह इन बातों में नहीं फंसेगी। दूसरे लोगों को भी मर्यादित होना चाहिये। मेट्रो के तीन महीने समय लगता है। हम उस दिन बैठे नहीं थे। खड़ी मेट्रो में बैठे थे। 300 पार ये गठबंधन पहुंचेगा। सबसे आगे समाजवादी पार्टी है। साइकिल सबसे तेज चल रही है। बुंदेलखंड की जनता ने हमारी मदद की। बीजेपी ने उनको खाली ट्रेन पानी की दी थी। भाभी ने अगर छोटे भाइयों को कहा कि।

Akhilesh yadav, CM uttarpradesh

बाद में मायावती पर भी हमला बोला, बोले कभी भी रक्षाबंधन मना लेंगी बुआ

मायावती पर सवाल पूछे जाने पर अखिलेश ने कि महिला सुरक्षा को लेकर इतना अच्छा इंतजाम किया है। बुआ मिलाएं 1090 उनको तुरंत न्याय मिलेगा। बसपा को लेकर उन्होंने कहा कि बुआ कब भाजपा वालों से रक्षाबंधन मना लें इसका कोई भरोसा नहीं है।

इससे पहले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपनी लैपटॉप योजना को लेकर एक ट्वीट किया था, जिसमें पीएम को भी टैग किया था। उन्होंने लिखा था अब तक सरकार ने 18 लाख छात्र-छात्राओं को लैपटॉप उनके सपने पूरे किए हैं। ये ट्वीट पीएम और बीजेपी नेताओं उन नेताओं को जवाब माना जा रहा था जो लैपटॉप को झुनझुना कह रहे थे।

Share it
Top