इलाहाबाद में 54.75 प्रतिशत मतदान 

इलाहाबाद में 54.75 प्रतिशत मतदान इलाहाबाद में वोट देने के बाद निशान को दिखातीं लड़कियां।

इलाहाबाद (भाषा)। छिटपुट घटनाओं को छोड़कर इस जिले के सभी 12 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान आज शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गया और करीब 55 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। जिला चुनाव कार्यालय द्वारा स्थापित नियंत्रण कक्ष से मिली सूचना के मुताबिक, शाम पांच बजे तक 54.75 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

गंगा पार सोरांव में सबसे अधिक 61 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया, जबकि इलाहाबाद उत्तर में सबसे कम 43 प्रतिशत मतदान हुआ। मेजा विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले अटखरिया गाँव में भाजपा कार्यकर्ताओं ने एक उप निरीक्षक पर सत्तारुढ़ समाजवादी पार्टी के पक्ष में मतदान करने के लिए मतदाताओं को प्रभावित करने का आरोप लगाते हुए पथराव किया।

इलाहाबाद में वोट देने के लिए लाइन में लगे लोग।

इलाहाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शलभ माथुर ने कहा, ‘इस संबंध में किसी भी व्यक्ति की गिरफ्तारी नहीं की गई है क्योंकि इन राजनीतिक कार्यकर्ताओं द्वारा लगाए गए आरोपों के समर्थन में कोई साक्ष्य नहीं मिला। हालांकि, हमने ऐहतिहात के तौर पर अतिरिक्त बल भेजा है।'

यमुना पार क्षेत्र में शंकरगढ़ प्रखंड में एक राजकीय इंटर कॉलेज में स्थापित मतदान केंद्र में कुछ सुरक्षाकर्मियों द्वारा ग्रामीणों के एक समूह को कथिततौर पर पीटे जाने पर माहौल तनावपूर्ण हो गया। आक्रोशित ग्रामीणों ने इसके विरोध में मतदान का बहिष्कार करने का निर्णय किया, लेकिन ड्यूटी पर तैनात अधिकारियों ने उन्हें शांत कराया।

चुनाव का बहिष्कार

चुनाव का बहिष्कार करने का मामला बारा विधानसभा क्षेत्र के भैंस हई गाँव और कोरांव के राजापुर गाँव से भी सामने आया। इन दोनों ही गाँवों में मतदाताओं ने घोषणा की कि वे बिजली, पेयजल और सडक जैसी मूलभूत सुविधाओं के पूर्ण अभाव के विरोध में मतदान केंद्रों पर नहीं जाएंगे। हालांकि स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों के समझाने पर लोगों ने मतदान किया।

चुनाव से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

गंगा पार फाफामऊ क्षेत्र और यमुना पार बारा क्षेत्र से मतदाता सूची में नाम शामिल होने संबंधी कुछ मतदाताओं की ओर से शिकायतें आईं। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इस पर फार्म भरकर और मतदाताओं के पहचान पत्र लेकर इन शिकायतों का निपटारा कर दिया गया.

इलाहाबाद में सरस्वती सिंह (90 वर्ष ) वोट देने के बाद।

आज मतदान करने वाली प्रमुख हस्तियोंं में इलाहाबाद उच्च न्यायालय के प्रधान न्यायधीश डीबी भोसले, पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी, उत्तर प्रदेश के भाजपा प्रमुख केशव प्रसाद मौर्य और पार्टी के राष्ट्रीय सचिव सिद्घार्थ नाथ सिंह शामिल रहे। सिंह इलाहाबाद पश्चिम से पार्टी के उम्मीदवार भी हैं।

इसके अलावा, 103 वर्षीय स्वतंत्रता सेनानी उर्मिला मालवीय ने आदर्श कन्या इंटर कॉलेज में मतदान किया।

मैं स्वतंत्रता के बाद से ही चुनावों में मतदान कर एक नागरिक के तौर पर अपना कर्तव्य पूरा करती रही हूं। मुझे यह देखकर बहुत खुशी है कि लोगों में जागरुकता बढ़ी है और वे बड़ी संख्या में मतदान के लिए घरों से बाहर आ रहे हैं, हमारी लोकतांत्रिक व्यवस्था पिछले कई वर्षों में समृद्घ हुई है और नए राजनीतिक दलों के उभरने से मतदाताओं के पास विकल्प बढ़े हैं।
उर्मिला मालवीय ( 103 वर्ष) स्वतंत्रता सेनानी

मतदान केंद्र से बाहर उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं स्वतंत्रता के बाद से ही चुनावों में मतदान कर एक नागरिक के तौर पर अपना कर्तव्य पूरा करती रही हूं। मुझे यह देखकर बहुत खुशी है कि लोगों में जागरुकता बढ़ी है और वे बड़ी संख्या में मतदान के लिए घरों से बाहर आ रहे हैं, हमारी लोकतांत्रिक व्यवस्था पिछले कई वर्षों में समृद्घ हुई है और नए राजनीतिक दलों के उभरने से मतदाताओं के पास विकल्प बढ़े हैं।''

मदद के लिए 20,000 से अधिक कर्मचारी तैनात

बुजुर्ग और दिव्यांग लोगों को मतदान केंद्रों तक लाने में मदद के लिए 20,000 से अधिक कर्मचारियों को पूरे जिले में तैनात किया गया था। कुल 105 आदर्श मतदान केंद्र भी स्थापित किए गए जहां व्हीलचेयर, आरओ का पानी और नमकीन जैसी अतिरिक्त सुविधाओं की पेशकश की गई। इलाहाबाद उत्तर और इलाहाबाद दक्षिण विधानसभा क्षेत्रों में प्रायोगिक आधार पर 791 मतदान केंद्रों पर वीवीपैट (वोट वेरीफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल) मशीनें लगायी गयी थीं।

Share it
Top