मुलायम बोले- अखिलेश ही होंगे अगले मुख्यमंत्री, समाजवादी पार्टी एकजुट, देखें वीडिओ

मुलायम बोले- अखिलेश ही होंगे अगले मुख्यमंत्री, समाजवादी पार्टी एकजुट, देखें वीडिओअखिलेश और मुलायम सिंह यादव।

लखनऊ। समाजवादी पार्टी में मचे घमासान के बीच मुलायम सिंंह यादव ने कहा कि पार्टी एकजुट है और अखिलेश ही अगले मुख्यमंत्री होंगे। हम सब मिलकर चुनाव प्रचार करेंगे।

इससे पहले समाजवादी पार्टी के चुनाव चिन्ह पर दावेदारी को लेकर मुलायम सिंह यादव सोमवार को चुनाव आयोग पहुंचे थे। रात को एएनआई से बातचीत में उन्‍होंने कहा, "समाजवादी पार्टी एक ही है। चुनाव के बाद अगले सीएम अखिलेश यादव ही रहेंगे। इसमें कोई संशय नहीं है। समाजवादी पार्टी ना टूटी है और ना टूटेगी।" मुलायम ने कहा कि हम सब एक हैं और हम जल्द ही चुनावी
अभियान की शुरुआत करेंगे।'

उधर, अखिलेश गुट की तरफ से रामगोपाल ने चुनाव आयोग के अधिकारियों से मुलाकात की। आयोग ने दोनों पक्षों को पार्टी चिन्ह के विवाद पर नौ जनवरी तक हलफनामा देने को कहा था। सपा के संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने सोमवार सुबह जोर देकर कहा कि उनके और उनके बेटे अखिलेश यादव यानी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के बीच कोई मतभेद नहीं है। हालांकि उन्होंने पार्टी में 'दरार' की बात स्वीकार कर ली।

एक सप्ताह के भीतर लगातार दूसरी बार मुलायम सिंह ने मुख्य निर्वाचन आयुक्त नसीम जैदी से सोमवार को मुलाकात की और 'साइकिल' पर अपना दावा जताने के साथ ही अपने चचेरे भाई राज्यसभा सदस्य रामगोपाल यादव पर पार्टी में झगड़ा लगाने का आरोप लगाया। मुख्य निर्वाचन आयुक्त नसीम जैदी से मुलाकात के बाद मुलायम ने रामगोपाल यादव की ओर स्पष्ट तौर पर इशारा करते हुए संवाददाताओं से कहा कि सिर्फ 'एक शख्स' पार्टी में समस्याएं पैदा कर रहा है।

उन्होंने कहा, "कोई है, जो मेरे बेटे (अखिलेश) को बहका रखा है। मैंने उससे रविवार रात और आज (सोमवार) सुबह भी बात की है। मेरे और मेरे बेटे के बीच कोई विवाद नहीं है।" मुलायम ने कहा, "पार्टी में थोड़ा बहुत विवाद है, ज्यादा नहीं। इसके लिए सिर्फ एक शख्स जिम्मेदार है। लेकिन, मेरे लखनऊ पहुंचने पर मामले को जल्द सुलझा लिया जाएगा।"

मुलायम सिंह ने राज्यसभा के सभापति को पत्र लिखकर राज्यसभा सदस्य रामगोपाल यादव को सपा से निष्कासित किए जाने की सूचना दी है। पार्टी के ज्ञात सूत्रों ने कहा है कि जैदी से मुलाकात के वक्त मुलायम ने जोर दिया कि एक जनवरी को हुए अधिवेशन के दौरान उन्हें अध्यक्ष पद से हटाया जाना 'अवैध' है।

पार्टी के चुनाव चिह्न् 'साइकिल' पर अपना दावा ठोकने आए मुलायम ने जैदी से लगभग 40 मिनट तक बातचीत की। उनके साथ उनके भाई शिवपाल यादव व वरिष्ठ नेता अमर सिंह भी थे।

Share it
Top