बीजेपी का घोषणापत्र लागू होगा तो प्रदेश में एक भी किसान आत्महत्या नहीं करेगा: वीरेंद्र सिंह मस्त

बीजेपी का घोषणापत्र लागू होगा तो प्रदेश में एक भी किसान आत्महत्या नहीं करेगा: वीरेंद्र सिंह मस्तलखऩऊ में पत्रकारों से बात करते भदोही के सांसद और किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यश्र पीली पगड़ी में। साथ में है प्रदेश प्रवक्ता हरीश चंद्र श्रीवास्तव।

लखनऊ। भाजपा किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह मस्त ने कहा कि अगर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनी तो हमारा घोषणा पत्र लागू होगा, जिसके बाद प्रदेश में कोई किसान जान देने को मजबूर नहीं होगा। उन्होंने कहा कि ये घोषणापत्र नहीं संकल्प पत्र है, इसीलिए हमने इसमें नौ संकल्प रखे हैं।

हमारी पहली प्राथमिकता किसान हैं। पहली बार प्रदेश किसान कल्याण की बात हुई है। केंद्र की योजनाएं लागू होंगी। ऐसा संकल्प पहले कभी नहीं देखा है। कृषि हमारी जीवनधारा है। साथ ही उन्होंने कहा कि ऋग्वेद में कृषि सम्बंधित सभी उल्लेख किये गए हैं। हम जो कहते हैं वो करते हैं। 36 लाख करोड़ रूपये पिछली सरकार ने दलहन के लिए विदेश भेज दिए। जहां बीजेपी की सरकार नहीं है वहां किसान कल्याण की योजनाएं परवान नहीं चढ़ रही हैं। यूपी बहुत उपजाऊ प्रदेश है। गंगा और सरयू का मैदान बहुत उपजाऊ है। इस मैदान को और उपजाऊ बनाया जायेगा।

जहां बीजेपी की सरकार नहीं है वहां किसान पीड़ित हैं, वहां किसान कल्याण की योजनाएं परवान नहीं चढ़ रही हैं। प्रदेश में घोषणापत्र लागू हुआ तो कोई किसान जान नहीं देगा।
वीरेंद्र सिंह मस्त, राष्ट्रीय अध्यक्ष, भाजपा किसान मोर्चा

दूसरी पार्टी के लोग सोचते हैं कि किसान का मांगपत्र उनके पास आये। मगर हम उसको अधिकार पत्र देंगे। हम किसान के मुक्कमल विकास की कोशिश कर रहे हैं। परिवारों को टूटने से बचाएंगे। भारतीय जनता किसान को लाभकारी कीमत देंगे। हम इसका भरोसा देंगे। करखनिया माल और खरहनिया माल के दाम की एकरूपता होगी।

वहीं उन्होंने कहा कि जल संरक्षण को साकार करेंगे। गाय, गंगा, गीता और गाँव का सन्देश हम किसानों को देंगे। 15 साल से यूपी में शासन के बैनर तले सबकुछ हुआ है। किसानों को लूटने वाले आज जेल में गए हैं। उन्होंने कहा कि किसान इस प्रदेश का मालिक है। किसान मित्र योजना जो सरकार बनने के एक महीने में लागू करेंगे। जहां-जहां बीजेपी की सरकार वहां जीरो प्रतिशत पर ऋण दिया जाता है।

Share it
Top