कांग्रेस किसी से भी गठबंधन नहीं करेगी

कांग्रेस किसी से भी गठबंधन नहीं करेगीराजबब्बर (फोटो साभार: गूगल)।

लखनऊ। आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी किसी भी राजनीतिक दल से चुनावी गठबंधन नहीं करेगी। पार्टी अकेले ही चुनाव मैदान में जाएगी। उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर ने गठबंधन के सवाल पर साफ कहा कि किसी भी दल के साथ समझौता नहीं हुआ है और न ही बात हो रही है, इसको सभी लोग अच्छी तरह से समझ लें और अपना शक दूर कर लें।

किसी भी भ्रम में नहीं आना है

उन्होने कहा कि कांग्रेस पार्टी के बढ़ते जनाधार से घबराकर विपक्षी दलों ने फर्जी खबरें छपवाकर भ्रम पैदा कर कांग्रेसजनों का मनोबल गिराना चाहती है। ऐसे में सभी को पूरी सावधानी के साथ कांग्रेस पार्टी को मजबूत बनाना है, किसी भी भ्रम में नहीं आना है। आगामी विधानसभा चुनाव में चुनाव लड़ने के लिए अल्पसंख्यकों ने अपनी हिस्सेदारी की मांग की है। शनिवार को उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक विभाग के समस्त प्रदेश पदाधिकारियों, एडवाइजरी बोर्ड के सदस्यों, जोनल/मंडल कोआर्डिनेटर्स और जिला/शहर चेयरमैनों की बैठक प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में हुई। जिसकी अध्यक्षता विभाग के चेयरमैन हाजी सिराज मेहंदी ने की। बैठक में अखिल भारतीय कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन खुर्शीद अहमद सैय्यद, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर, पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं सांसद कपिल सिब्बल एवं प्रदेश कांग्रेस के प्रचार समिति के चेयरमैन एवं सांसद डॉ. संजय सिंह, समन्वय समिति के चेयरमैन एवं सांसदप्रमोद तिवारी जी मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

बड़ा सम्मेलन करने की तैयारी

बैठक को सम्बोधित करते हुए अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय चेयरमैन खुर्शीद अहमद सैयद ने कहा कि चुनाव में टिकटों के बंटवारे में मनमानी होती रही है और अल्पसंख्यक की अनदेखी की जाती है। उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक में सिर्फ मुस्लिम ही नहीं आते, बल्कि क्रिश्चियन, सिख, पारसी, जैन आदि भी समुदाय आते हैं। उन्होंने कहा कि आने वाले यूपी विधानसभा चुनाव के पहले प्रदेश के सभी मंडलों में मंडलवार को बड़ा सम्मेलन करेंगे, जिसकी तैयारी पूरी कर ली गई है, जिसकी तिथि की शीघ्र ही घोषणा की जाएगी।

ईमानदारी से होगा टिकट वितरण

बैठक को सम्बोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर ने कहा कि आप सभी लोग जिस शिद्दत के साथ पार्टी को मजबूत कर रहे हैं। इस बार चुनाव में टिकट वितरण में पूरी ईमानदारी से टिकट वितरण होगा। उन्होंने कहा कि किसी के साथ भी नाइंसाफी नहीं होने पायेगी। बैठक को सम्बोधित करते हुए पूर्व केन्द्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने नोटबन्दी के सम्बन्ध में नोटों के आंकड़े पेश करते हुए कहा कि दर्द उनको होता है जिसके परिवार होता है। नरेन्द्र मोदी के परिवार ही नहीं है, इसलिए उन्हें कोई दर्द नहीं है। मोदी ने अपनी 90 वर्षीय मां को लाइन में खड़ाकर अपनी सोच को उजागर किया है। पूरे देश की जनता को उनकी सोच को समझने की जरूरत है। यदि वह अच्छे बेटे होते तो खुद लाइन में लगकर अपनी मां को चार हजार रूपये लाकर देते। सिब्बल ने कहा कि देश की 80 प्रतिशत जनता का बैंक खाता नहीं है, जिनके पास है भी वह बन्द है, प्रयोग में नहीं है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने किसानों, बुनकरों, मजदूरों को सिर्फ मारने का काम किया है।

सत्ता में आने से कोई नहीं रोक सकता

प्रचार अभियान समिति के चेयरमैन एवं सांसद डा. संजय सिंह ने कहा कि राहुल जी की किसान यात्रा के दौरान जिस प्रकार आम जनता का समर्थन मिला और सभी वर्गों का समर्थन मिला, उससे यह साफ हो गया है कि प्रदेश में इस बार कांग्रेस की सरकार बनेगी। उन्होंने कहा कि आप सभी अल्पसंख्यक विभाग के लोग जिस प्रकार जोश में यहां आये हैं, उसी जोश के साथ यदि काम भी करेंगे तो आपको सत्ता में आने से कोई रोक नहीं सकता। उन्होंने कहा कि खराब लोग सभी वर्गों में होते हैं।

पेड़ की तरीके से रहना होगा

समन्वय समिति के चेयरमैन एवं सांसद प्रमोद तिवारी ने कहा कि तना और जड़, यदि अलग कर दिये जाएं तो न तो तना काम का रह जाता है और न ही जड़ किसी काम का रहता है। यदि तना और जड़ जुड़े रहें तो पेड़ की शक्ल में होते हैं, इसलिए हिन्दु-मुस्लिमों को पेड़ की तरीके से रहना होगा और आपस में लड़ाने वालों से सावधान रहना होगा।

अल्पसंख्यक विभाग की सक्रिय भागदारी सुनिश्चित करें

हाजी सिराज मेहंदी ने बैठक में आये हुए सभी पदाधिकारियों को पूरी मजबूती के साथ काम करने एवं प्रदेश की गंगा जमुनी तहजीब को सुरक्षित बनाये रखने में अल्पसंख्यक विभाग की सक्रिय भागदारी सुनिश्चित करने का आह्वाहन किया। उन्होंने कहा कि साल 2012 के समाजवादी पार्टी के घोषणा पत्र को जो मुख्यमंत्री एवं सपा के नेता कहते हैं कि उसे पूरा कर दिया है, उसमें एक भी काम पूरा किया है तो उसे लिखित रूप से सार्वजनिक करें। उर्दू को दूसरी भाषा का दर्जा कांग्रेस शासनकाल में दिया गया था। कुछ लोग अदालत चले गए अभी सर्वोच्च न्यायालय ने एक साल पूर्व आदेश दिया है कि प्रदेश सरकार इसे दूसरी भाषा लागू करे, किन्तु प्रदेश सरकार इस विषय पर पूरी तरह मौन है और कोई कार्यवाही करने को तैयार नहीं है। इसके साथ ही 18 प्रतिशत का आरक्षण का वादा, बेगुनाह जेलों में जो बंद हैं, उन्हें सत्ता में आते ही फौरन रिहा कराएंगे, मदरसों में टेक्निकल शिक्षा दी जाएगी, मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों में स्कूल खोले जाएंगे जैसे किसी भी वादे को यदि पूरा किया है तो सपा सरकार को इसे जनता के सामने सार्वजनिक करना चाहिए। मेहंदी ने कहा कि इन मुद्दों को कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग पोस्टर के जरिए आम जनता तक पहुंचाएगा।

बैठक में यह भी रहे शामिल

बैठक में प्रमुख रूप से पूर्व मंत्री डॉ. अम्मार रिजवी, अमीर हैदर, पूर्व विधायक फजले मसूद, पूर्व मंत्री मुईद अहमद, पूर्व विधायक हाफिज मोहम्मद उमर, पूर्व विधायक भूधर नारायन मिश्रा, पूर्व आईएएस अनीस अंसारी, विश्व के प्रसिद्ध शायर मंजर भोपाली, मारूफ खान, प्रमोद सिंह, अरशद आजमी, स्टेट वाइस चेयरमैन सगीर सईद, सै. इबरत एवं हाजी अरशान, कोषाध्यक्ष मो. काजिम, प्रदेश प्रवक्ता चौ.सलमान कादिर, स्टेट कोआर्डिनेटर मोहम्मद नासिर, जावेद अंसारी, यूनुस सिद्दीकी, नीलम स्विंग दिलप्रीत सिंह, शहर चेयरमैन मेहंदी हसन सहित प्रदेश भर के एडवाइजरी बोर्ड के सदस्य तथा जोनल/मंडल कोआर्डिनेटर्स तथा जिला/शहर चेयरमैन मौजूद रहे।

Share it
Top