पश्चिमी यूपी: विकास, शिक्षा, स्वास्थ्य सेवाओं और रोजगार का सपना लेकर उमड़े वोटर

Uzaif MalikUzaif Malik   11 Feb 2017 7:01 PM GMT

पश्चिमी यूपी: विकास, शिक्षा, स्वास्थ्य सेवाओं और रोजगार का सपना लेकर उमड़े वोटरपश्चिम उत्तर प्रदेश में विभिन्न राजनैतिक मुद्दों के अलावा युवाओं ने विकास, रोजगार, शिक्षा और स्वास्थ्य के मुद्दों पर मतदान किया।

मुजफ्फरनगर। विकास, शिक्षा, बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं और रोजगार का सपना लेकर पश्चिम उत्तर प्रदेश के मतदाता निकल पड़े। पहले मतदान हुआ फिर जलपान किया। कुछ इसी तर्ज पर शनिवार की सुबह लोकतंत्र के महापर्व में भाग लेने के लिए पश्चिम उत्तर प्रदेश के लोग वोट देने चले थे। जिसके नतीजा में शाम पांच बजे तक 63 फीसदी मतदान हुआ, जो पिछली बार के मुकाबले करीब 2फीसदी अधिक रहा।

मुजफ्फरनगर शहर से करीब 40 किलोमीटर पुरकाजी क्षेत्र के गांव दुहारी में प्राथमिक स्कूल के पोलिंग बूथ पर गांव का ही बुजुर्ग सफाई कर्मचारी बाबू सुबह सात बजे पहला वोट डालने के लिए पहुंच गए। उनका कहना था कि सबसे पहले वोट डालेंगे, इसके बाद में काम शुरू करेंगे। पूरे पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कुछ ऐसा ही माहौल बना रहा। सुबह नौ बजे तक सभी जगह 10 फीसदी तक मतदान हो चुका था। ये प्रतिशत तीन बजते बजते 50 तक पहुंच गया। आखिरकार शाम 5 बजे वोट प्रतिशत 63 फीसदी से ज्यादा रहा। हां ये बात दीगर है कि मतदान का ये जोश शहरों के पढ़े लिखे लोगों के मुकाबले गांवों में अधिक नजर आता रहा।

उत्तर प्रदेश में पहले चरण के आगाज में 15 जिलों की 73 सीटों पर शनिवार को मतदान होगा। इस चरण में कुल दो करोड 59 लाख मतदाता हैं। जिसमें एक करोड 42 लाख पुरूष और एक करोड 17 लाख महिला मतदाता हैं, जिनमें से करीब 65 फीसदी लोग अपने घरों के बाहर वोटिंग के लिए निकले। जानसठ रोड के गांव साहवली के मतदान केंद्र पर सुबह आठ बजे से ही लंबी लाइन लग गई थी। मुस्लिम बाहुल्य गांव में मतदान केंद्र की कुछ दूरी पर खड़े सोनू बताते हैं कि मतदान इसलिए सबसे पहले किया क्योंकि जैसे जैसे समय बीतेगा भीड़ बढ़ेगी। हम कहीं वोट देने से वंचित न रह जाएं।

मुजफ्फरनगर में एक बूथ के बाहर लगी मतदाताओँ की लाइन।

विकास, रोजगार, शिक्षा और स्वास्थ्य जनता के मुद्दे

पश्चिम उत्तर प्रदेश में विभिन्न राजनैतिक मुद्दों के अलावा युवाओं ने विकास, रोजगार, शिक्षा और स्वास्थ्य के मुद्दों पर मतदान किया। मुजफ्फरनगर की हरि वृंदावन सिटी के रहने वाले शुभम कहते हैं कि वे पहली बार ही वोट डाल रहे हैं। बीटेक कर रहे हैं और चाहते हैं कि किसी तरह से कुछ ऐसे रोजगार के साधन बढ़ें कि इंजीनियर बनने के बाद उनको यहां से पलायन न करने पड़े। अक्षय कुमार जो कि जाट हैं और एडवोकेट भी कहीते हैं कि दंगे की आग अब ठंडी है।

लोगों ने मुख्यधारा में भी सोचना शुरू कर दिया है। इसलिए मेरा वोट तो स्वास्थ्य सेवाओं के लिए है। अक्षय भी युवा हैं, दूसरी बार वोट डालेंगे। कहते हैं कि सरकारी दफ्तरों के हालात से वे बहुत दुखी हैं। आम लोगों के काम लटकाए जाते हैं। कहीं कोई सुनवाई नहीं हैं। सरकार ऐसी आनी चाहिये जो अफसरों पर लगाम कसे।

बागपत में वोट डालने के बाद लोगों ने कुछ इस तरह खिंचवाई फोटो।

पश्चिम यूपी में दोपहर 3:00 बजे तक कुल 52.9% मतदान हुआ था; आगरा में 51.74% मतदान, अलीगढ़ में अबतक 52.57% मतदान, बागपत में अबतक 53.3% प्रतिशत वोटिंग, बुलंदशहर में अबतक 54.20% मतदान, एटा में अबतक 51 प्रतिशत मतदान हुआ, फिरोजाबाद में अबतक 54.62: वोटिंग हुई, गौतमबुद्ध नगर में अबतक49.33% वोटिंग, गाजियाबाद में अबतक 46.6% वोटिंग, हापुड़ में अबतक 54.93% मतदान हुआ, हाथरस में अबतक 50.2% वोटिंग हुई, कासगंज में अबतक 50.81% मतदान हुआ, मथुरा में अबतक 55.42% वोटिंग हुई, मेरठ में अबतक 56.27% वोटिंग हुई, मुजफ्फरनगर में अबतक 53.98 प्रतिशत वोटिंग, शामली में अबतक 55.83% मतदान हुआ, मेरठ दक्षिण सीट पर सबसे ज्यादा 65 प्रतिशत मतदान हुआ था। मगर शाम 5:00 बजे तक मतदान का कुल फीसदी 65 फीसदी तक पहुंचा। ये एक रिकार्ड है। 2012 में इन 73 सीटों पर औसत 58 फीसदी मतदान हुआ था।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top