यूपी इलेक्शन 2017: पांचवे चरण का प्रचार खत्म

यूपी इलेक्शन 2017: पांचवे चरण का प्रचार खत्मपूर्वी उत्तर प्रदेश के 11 जिलों में फैले 51 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान 27 फरवरी को होगा।

लखनऊ (भाषा)। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पांचवे चरण के तहत 51 विधानसभा क्षेत्रों में शनिवार को चुनाव प्रचार खत्म हो गया। इस चरण के प्रचार में राजनीतिक दलों ने एक दूसरे पर जमकर टिका टिप्पणी की और तीखे प्रहार किए। पूर्वी उत्तर प्रदेश के 11 जिलों में फैले 51 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान 27 फरवरी को होगा। पांचवे चरण में बलरामपुर, गोण्डा, फैजाबाद, अंबेडकरनगर, बहराइच, श्रावस्ती, सिद्धार्थनगर, बस्ती, संत कबीर नगर, अमेठी और सुल्तानपुर में मतदान होना है।

हालांकि अंबेडकरनगर के आलापुर में सपा उम्मीदवार चंद्रशेखर कनौजिया के निधन के कारण चुनाव आयोग ने यहां मतदान की तारीख नौ मार्च तय की है। आलापुर जोड़कर कुल 52 सीटों में से 37 सीटें पिछली बार (2012) सपा ने जीती थीं। भाजपा और कांग्रेस को पांच पांच सीटें मिली थीं, जबकि बसपा को तीन और पीस पार्टी को दो सीटें हासिल हुई थीं।

श्रावस्ती, बलरामपुर, सुल्तानपुर और अंबेडकरनगर में सपा प्रत्याशियों ने हर सीट पर जीत दर्ज की थी। पांचवे चरण में 608 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं।

अमेठी में रानी बनाम रानी का मुकाबला

अमेठी में सबसे अधिक 24 उम्मीदवार किस्मत आजमा रहे हैं। सबसे कम छह उम्मीदवार सिद्धार्थनगर की कपिलवस्तु और इटवा सीट पर हैं। इस चरण में विवादास्पद मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति (सपा), अमिता सिंह (कांग्रेस), गरिमा सिंह (भाजपा) चुनाव मैदान में हैं। अमिता कांग्रेस नेता संजय सिंह की दूसरी पत्नी हैं, जबकि गरिमा उनकी पहली पत्नी हैं। यहां ‘रानी बनाम रानी' मुकाबला हो गया है।

इस चरण में कुल 1. 84 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे, जिनमें महिलाओं की संख्या 96 लाख है। इसी चरण में गोण्डा के तरबगंज से विनोद कुमार सिंह उर्फ पंडित सिंह, अयोध्या से तेज नारायण पाण्डेय उर्फ पवन पाण्डेय व अकबरपुर से बसपा के प्रदेश अध्यक्ष राम अचल राजभर मैदान में हैं।

Share it
Top