चुनाव आयोग ने गाँवों में 80 फीसदी मतदान कराने का ठाना लक्ष्य

चुनाव आयोग ने गाँवों में 80 फीसदी मतदान कराने का ठाना लक्ष्यबांदा में मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए चलाया जा रहे है हस्ताक्षर अभियान।

लखनऊ। चुनाव आयोग ने गाँवों में मतदान प्रतिशत को 60 से बढ़ाकर करीब 80 फीसदी तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा है। इसके लिए वह कई अभियान चलाएगा।

शहरी क्षेत्रों में मतदाता जागरूकता अभियान के साथ अब चुनाव आयोग गाँवों में भी इस अभियान को आगे बढ़ाएगा। वैसे गाँवों में शहरों के मुकाबले मतदान की जागरूकता हमेशा से अधिक रही है। फिर भी अधिक से अधिक जागरूकता के लिए अभियान चलाए जाएंगे। अभियान में गाँवों में लोकगायकों और लोककलाओं के माध्यम से मतदान करने के प्रति ग्रामीणों को जागरूक करने का प्रयास पूरे प्रदेश में निर्वाचन आयोग करेगा।

प्रदेश में करीब 15 करोड़ मतदाता हैं। इनमें से लगभग 11 करोड़ मतदाता राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में है। पिछले विधानसभा चुनाव में राज्य भर में मतदान का प्रतिशत 48 फीसदी रहा था। मगर गाँवों में ये प्रतिशत 60 फीसदी से कुछ अधिक रहा था। मगर चुनाव आयोग 60 फीसदी के इस आंकड़े को इस बार 80 फीसदी तक ले जाने की तैयारी में जुटा हुआ है।

सात चरणों के हिसाब से अलग-अलग जिलों के गाँवों में ये अभियान चलाया जाएगा। पश्चिम से शुरू होकर पूर्वी उत्तर प्रदेश तक आयोग यह अभियान चलाएगा।
जीतेंद्र प्रताप सिंह, अपर मुख्य चुनाव अधिकारी, चुनाव आयोग

इन कोशिशों से करेंगे जागरूक

  • भोजपुरी और अवधी गीत
  • नौटंकी और डुगडुगी से
  • स्कूलों में बच्चों की रैली
  • महिलाओं की विशेष पंचायत करा के
  • चौपालों तक जाएंगे, बताएंगे मतदान के लाभ

पश्चिम से पूर्व तक चलेगा अभियान

चुनाव आयोग के अपर मुख्य चुनाव अधिकारी जीतेंद्र प्रताप सिंह बताते हैं कि सात चरणों के हिसाब से अलग-अलग जिलों के गाँवों में ये अभियान चलाया जाएगा।

पश्चिम से शुरू होकर पूर्वी उत्तर प्रदेश में से अभियान आयोग चलाएगा। ताकि गांवों के वोट प्रतिशत को 80 फीसदी तक पहुंचाया जा सके।

Share it
Top