विधानसभा चुनाव के दौरान पकड़े गए 350 करोड़ रुपए नकद, पिछली बार से तीन गुना बढ़ी संख्या

विधानसभा चुनाव के दौरान पकड़े गए 350 करोड़ रुपए नकद, पिछली बार से तीन गुना बढ़ी संख्याज़ैदी ने चुनाव आयोग की उस मांग को दोहराया जिसमें केंद्र द्वारा आयोग को मतदाताओं को घूस देने के मामले में चुनाव निरस्त करने का अधिकार हो

लखनऊ। मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम ज़ैदी ने बताया कि इस बार विधानसभा चुनाव के दौरान वोटरों को लुभाने के लिए 2012 के चुनावों से तीन गुना ज्यादा मात्रा में चीजों को बरामद किया गया है जिसमें नकद के साथ शराब की बोतलें शामिल है।

ज़ैदी ने अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से एक इंटरव्यू में कहा, ‘इस बार के चुनावों में 350 करोड़ की राशि नकद में जब्त की गई है। इस दौरान ज़ैदी ने चुनाव आयोग की उस मांग को दोहराया जिसमें केंद्र द्वारा आयोग को मतदाताओं को घूस देने के मामले में चुनाव निरस्त करने का अधिकार हो।

ज़ैदी ने कहा, ‘हम तीन बार अपनी सिफारिश को सरकार के पास लेकर गए। इस मांग में यह बात कही गई है कि बड़ी संख्या में मतदाताओं को रुपए बांटने पर निर्वाचन अधिकारी, प्रेक्षकों और कुछ विश्वसनीय सबूतों के आधार पर ही आयोग चुनाव को निरस्त करेगा।

इस साल भड़काऊ भाषणों पर कोई शिकायत न दर्ज होने पर ज़ैदी ने कहा कि इसके लिए लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के अंतर्गत अलग प्रावधान की जरूरत है।

इसके अलावा ज़ैदी ने बताया कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और रक्षा मंत्री मनोहर पारिकर के दो अलग-अलग रैलियों में ‘वोट के लिए नकद’ के भाषण पर आयोग ने एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है।

Share it
Top