सातवें फेरे में फिर जम कर मना उत्सव, फर्स्ट डिवीजन पास हुए वोटर

सातवें फेरे में फिर जम कर मना उत्सव, फर्स्ट  डिवीजन पास हुए वोटरमतदान केंद्रों पर दिखी लंबी कतारें।

मुख्य संवाददाता

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में आखिरी चरण के चुनाव में एक बार फिर से मतदाताओं ने जोश दिखाया। पांचवें और छठे चरण में 60 फीसदी से कम मतदान के बाद बुधवार को प्रतिशत 60 फीसदी के ऊपर चला गया। 60.03 फीसदी पहुंच गया। सबसे ज्यादा चंदौली में मतदान हुआ है। जबकि सबसे कम भदोही में हुआ। प्रधानमंत्री का लोकसभा क्षेत्र वाराणसी इस बार मतदान करने में फर्स्ट डिवीजन पास हुआ। यहां 60.95 प्रतिशत चुनाव हुआ। मतदान के दौरान कहीं से भी किसी बड़भ् घटना की सूचना आयोग को नहीं मिली। मतदान शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुआ।

पूरब में आखिरी राउंड में सभी दलों के आक्रामक प्रचार अभियान का असर दिखा। यहां 2012 में करीब 58 फीसदी मतदान हुआ था। मगर इस बार करीब ढाई फीसदी अधिक मतदान हो गया। मुख्य चुनाव अधिकारी टी वेंकटेश ने बताया कि, इस बार इन सात जिलों की 40 सीटों पर 60.03 फीसदी मतदान दर्ज किया गया है। भदोही में 58.30, चंदौली में 61.13, गाजीपुर में 59.69, जौनपुर में 58.57, मिरजापुर में 60.80, सोनभद्र में 61 और वाराणसी में 60.95 फीसदी मतदान रिकार्ड किया गया।

अलापुर विधानसभा सीट के लिये मतदान कल

अम्बेडकर नगर जिले की अलापुर विधानसभा सीट के लिये बृहस्पतिवार को मतदान होगा। अलापुर विधानसभा सीट का चुनाव गत 12 फरवरी को चुनाव प्रचार के दौरान सपा प्रत्याशी चंद्रशेखर कनौजिया के निधन की वजह से स्थगित कर दिया गया था। इस सीट पर चुनाव दूसरे चरण में गत 15 फरवरी को होना था। कनौजिया के निधन के बाद सपा ने उनकी पत्नी संगीता चौधरी को उम्मीदवार बनाया है।इस सीट पर कुल 10 प्रत्याशी चुनाव लड रहे हैं।

Share it
Top