जमीन खिसकते देख गुस्से में मोदी और माया : अखिलेश यादव-राहुल गांधी 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   11 Feb 2017 12:34 PM GMT

जमीन खिसकते देख गुस्से में मोदी और माया : अखिलेश यादव-राहुल गांधी लखनऊ स्थित होटल ताज में संवाददाता सम्मेलन के लिए जाते अखिलेश और राहुल।

लखनऊ (भाषा)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रदेश विधानसभा चुनाव में विपक्षियों के हमलों को उनकी हताशा का नतीजा करार देते हुए आज कहा कि विरोधियों के हाव-भाव और गुस्सा यह बता रहा है कि उनकी जमीन खिसक चुकी है।

राहुल गांधी-अखिलेश यादव ने न्यूनतम साझा कार्यक्रम किया जारी, कहा उत्तर प्रदेश में दो युवाओं का हुआ है गठबंधन

अखिलेश और राहुल ने यहां संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में अपने गठबंधन के 'प्रगति के 10 कदम' प्रतिबद्घ हैं हम' संकल्प पत्र का विमोचन करने के बाद संवाददाताओं से बातचीत में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा बसपा मुखिया मायावती द्वारा उन पर व्यक्तिगत छींटाकशी किए जाने पर कहा कि चुनाव एक लोकतांत्रिक प्रक्रिया है, इसमें ज्यादा भावनात्मक या गुस्सा होने की जरुरत नहीं है, यह कहीं ना कहीं बता रहा है कि उनकी जमीन खिसक गयी है।

लखनऊ स्थित होटल ताज में संवाददाता सम्मेलन के लिए जाते अखिलेश और राहुल।

दो युवाओं का गठबंधन : अखिलेश

अखिलेश ने कहा कि विपक्षी लोग सपा और कांग्रेस के गठबंधन को दो कुनबों का गठबंधन कह रहे हैं लेकिन दरअसल यह दो युवाओं का गठबंधन है, हम युवाओं को जोड़ेंगे। हम किसी से कुछ छीन नहीं रहे हैं, हम ऐसा चाहते भी नहीं। इसमें गुस्सा होने वाली क्या बात है, मैं तमाम मतदाताओं का धन्यवाद देता हूं। पहले चरण का चुनाव हो रहा है, इसमें साइकिल और कांग्रेस को सबसे पहले वोट पड़ा है, और जो आगे होता है, वह आगे ही रहता है।

लखनऊ स्थित होटल ताज में अखिलेश और राहुल ने यहां संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में अपने गठबंधन के ‘प्रगति के 10 कदम’ प्रतिबद्घ हैं हम’ संकल्प पत्र का विमोचन किया।

सरकार बनने पर संकल्पपत्र पर होगा काम : राहुल-अखिलेश

राहुल और अखिलेश ने कहा कि 'प्रगति के 10 कदम, प्रतिबद्घ हैं हम' संकल्पपत्र को हम दोनों ने मिलकर बनाया है। कांग्रेस और सपा की सरकार बनने पर इन 10 फैसलों पर प्राथमिकता के साथ काम किया जाएगा। इसमें फ्री स्मार्ट फोन, 20 लाख युवाओं को कौशल प्रशिक्षण, किसानों को फसली राहत, सस्ती बिजली, एक करोड़ गरीब परिवारों को एक हजार रुपए मासिक पेंशन, शहरी गरीबों को एक वक्त नि:शुल्क भोजन, दलित एवं पिछड़े वर्ग के 10 लाख लोगों को नि:शुल्क आवास, तेज और असरदार कार्रवाई के लिए पुलिस का आधुनिकीकरण इत्यादि कार्य शामिल हैं।

लखनऊ स्थित होटल ताज में संवाददाता सम्मेलन के लिए जाते अखिलेश और राहुल।

अगर पीएम आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर चलें तो निश्चित सपा-कांग्रेस को ही देंगे वोट

अखिलेश ने जन्मपत्री संबंधी प्रधानमंत्री मोदी की कथित टिप्पणी के बारे में पूछे गए सवाल पर कहा कि यह चुनाव है, इसमें गुस्सा नहीं आना चाहिए। प्रधानमंत्री ने जो चीजें जमीन पर पहुंचाई हैं, उनके बारे में बताएं। आज इंटरनेट का जमाना है, सबकी जन्मपत्री निकलती है, प्रधानमंत्री अगर आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर चलें तो मैं कह सकता हूं कि वह भी सपा-कांग्रेस को ही वोट देंगे।

लखनऊ स्थित होटल ताज में संवाददाता सम्मेलन में राहुल गांधी।

मोदी ने सिर्फ एक प्रतिशत अपना वादा पूरा किया : राहुल

राहुल ने एक सवाल पर कहा कि मोदी ने हर साल दो करोड़ लोगों को रोजगार देने की बात कही थी। पिछले साल एक लाख युवाओं को रोजगार दिया। इस साल बेरोजगारी बढ़ी यानी बात बराबर हो गयी। इस तरह उनका वादा एक प्रतिशत भी पूरा नहीं हुआ। मोदी सुरक्षा और आतंकवाद की बात करते हैं, सर्जिकल स्टाइक का नतीजा यह हुआ कि सात साल में पहली बार कम से कम 90 सुरक्षाकर्मियों को शहादत देनी पड़ी।

राहुल गांधी-अखिलेश यादव ने न्यूनतम साझा कार्यक्रम किया जारी।

मोदी को बाथरुम में झांकना अच्छा लगता है

उन्होंने कहा कि मोदी ने देश के 50 अमीर परिवारों के एक लाख 40 हजार करोड़ रुपए माफ किए। वह इस धन को गरीबों पर खर्च कर सकते थे। मोदी को जन्मपत्री निकालना अच्छा लगता है, लोगों के बाथरुम में झांकना अच्छा लगता है, वह अपने बाकी समय में यह सब करें लेकिन रोजगार देने सुरक्षा देने के सवाल पर वह विफल हो गए हैं, उन्हें यह लग रहा है कि यूपी में सपा-कांग्रेस की सरकार आएगी, इससे उनकी विश्वसनीयता को धक्का लगेगा। वह जो बोल रहे हैं वह उनकी हताशा है।

व्यक्तिगत नाराजगी को राजनीतिक नहीं बनाना चाहिए

इमाम बुखारी और मौलाना कल्बे जव्वाद के बसपा को समर्थन देने के एलान के बारे में अखिलेश ने कहा कि व्यक्तिगत नाराजगी को राजनीतिक नहीं बनाना चाहिए। पहले वाले मौलाना पूर्व में भाजपा के लिए वोट मांग रहे थे, अब बसपा को समर्थन दे रहे हैं, कहीं वह भाजपा और बसपा का तालमेल तो नहीं करा रहे हैं जहां तक दूसरे वाले मौलाना का सवाल है तो आखिरकार हमें ही आशीर्वाद देंगे।

हम चाहते हैं कि यूपी में युवाओं की सरकार आए। विजन की सरकार आए। बाकी पार्टियां नींव की बात नहीं कर रही है, हमने ये दो 10 बिंदु रखे हैं, यह यूपी के विकास की नींव बन सकती है, हमारी कोशिश होगी कि यूपी में सबकी सरकार बने और हर व्यक्ति को लगे कि यह सरकार मेरी है, हम किसानों की मदद करेंगे, युवाओं को रोजगार देंगे।
राहुल गांधी कांग्रेस उपाध्यक्ष (जारी संकल्पपत्र के बारे में बताते हुए)

सत्ता हासिल करने ही नहीं हम यूपी को बदलेंगे भी : राहुल

सपा-कांग्रेस गठबंधन भविष्य में भी बरकरार रहेगा, इस सवाल पर राहुल ने कहा कि यह साझा विजन का भी गठबंधन है, हम सिर्फ यूपी में सत्ता हासिल करने नहीं आए, बल्कि यूपी को बदलने भी आएं। पिछले पांच साल में यह मूलभूत रूप से बदला है, मेरे के लिए यह एक साझा विचारों की साझीदारी है।

प्रत्याशी विवाद जल्द सुलझा लेंगे : राहुल

राहुल ने कुछ सीटों पर सपा और कांग्रेस दोनों के ही प्रत्याशियों के खड़े होने को छोटा मुद्दा बताते हुए कहा कि इसे जल्द ही सुलझा लिया जाएगा। गठबंधन में तालमेल नहीं होने की बात बिल्कुल गलत है।

अखिलेश ने एक सवाल पर कहा कि बसपा मुखिया मायावती जो कभी भाजपा के लिए वोट मांग रही थीं आज बसपा के लिए वोट मांग रही है, जनता जानती है कि भाजपा के साथ रक्षाबंधन का त्यौहार किसने मनाया था।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top