भाजपा के इशारे पर बसपा की छवि खराब करने की कोशिश हो रही है : मायावती

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   27 Dec 2016 1:59 PM GMT

भाजपा के इशारे पर बसपा की छवि खराब करने की कोशिश हो रही है : मायावतीबहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती।

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कहा कि बसपा की छवि खराब करने की कोशिश की जा रही है। इसके लिए सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया जा रहा है।

बहुजन समाज पाार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने मंगलवार को जोर देकर कहा कि प्रवर्तन निदेशालय ने उनकी पार्टी के एक खाते में 104 करोड़ रुपए जमा होने के बारे में जो पता लगाया है, वह पूरे हिसाब-किताब के साथ नियमत: कराया गया था। लखनऊ के मॉल एवेन्यू स्थित पार्टी कार्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन में मायावती ने कहा कि विधानसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) बसपा की छवि खराब करने के लिए सरकारी तंत्र का दुरुपयोग कर रही है।

मायावती ने कहा कि यह जनता का पैसा है जिसे बैंक में जमा कराया गया है। यह पैसा सदस्यता शुल्क व चंदे के रूप में जनता व पार्टी समर्थकों ने दिया है। यह पैसा नियमानुसार जमा किया गया है। मायावतीने कहा कि नोटबंदी से पहले का यह पैसा है।

मायावती ने कहा भारतीय जनता पार्टी दलित विरोधी चेहरा सामने आ रहा है। उन्होंने कहाकि अगर बसपा के पैसे का जिक्र किया गया तो अन्य दूसरी पार्टी का जिक्र क्यों नहीं किया गया।

मायावती ने भाजपा को चुनौती दी की अगर भाजपा सच्ची पार्टी है तो वह आठ नवम्बर से दस महीने पहले बैंक में जमा पैसे का खुलासा करे। उन्होंने कहा कि केन्द्र में भाजपा सरकार, सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर बसपा की छवि खराब करने की कोशिश कर रही है।

मायावती ने कहा कि मोदी सरकार नोटबंदी जैसे एक-दो फैसले और ले ले तो बसपा की सरकार बनना तय है। मायावती ने कल कहा था भाजपा के इशारे पर समाजवादी पार्टी-कांग्रेस का गठबंधन होगा। समाजवादी पार्टी-कांग्रेस का गठबंधन को लेकर मैंने जो बातें कहीं उससे भाजपा बौखला गई है। मेरे बयान से बौखालाई भाजपा मेरे और मेरे परिवार के खिलाफ साजिश कर रही है।

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बहुजन समाज पार्टी (बसपा) से संबंधित एक खाते में 104 करोड़ रुपए और पार्टी प्रमुख मायावाती के भाई आनंद के खाते में 1.43 करोड़ रुपए की भारी-भरकम राशि जमा कराए जाने का पता लगाया है। दिल्‍ली के करोल बाग इलाके के एक बैंक यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में रुपए जमा किए गए। अधिकारियों ने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय ने बैंकों में संदिग्ध और भारी रकम राशि जमा किए जाने की जांच और सर्वे अभियान के तहत यूनियन बैंक की करोल बाग शाखा का दौरा किया और पाया कि नोटबंदी के बाद इन दो खातों में बड़े पैमाने पर रकम जमा कराई गई। ईडी अब इस मामले की पूरी पड़ताल में जुट गई है। उधर, एजेंसी ने बैंक से इन दोनों खातों के बारे में पूरा ब्यौरा मांगा है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top