आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे को देख खुश मुलायम ने अखिलेश को दी शाबाशी 

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे को देख खुश मुलायम ने अखिलेश को दी शाबाशी समाजवादी पार्टी अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव।

बांगरमउ (उन्नाव) (भाषा)। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के लोकार्पण के मौके पर सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की तारीफ करते हुए कहा कि सरकार ने इस परियोजना को तय समय सीमा के भीतर पूरा कर बहुत अच्छा काम किया है। अखिलेश सरकार को बधाई देते हुए मुलायम ने कहा कि उत्तर प्रदेश में पिछले चार वर्षों के दौरान काफी विकास हुआ है।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की स्वप्निल परियोजना ‘आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे' का उन्नाव के बांगरमऊ में सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने लोकार्पण किया। मुलायम सिंह यादव ने कहा कि राज्य सरकार ने काफी काम किए हैं। गाँव, गरीबों व किसानों के हितों का भी ख्याल रखा गया है और महिलाओं के लिए ज्यादा सोचने तथा काम करने की जरूरत है।

राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने कहा कि देश में सबसे अच्छा काम उत्तर प्रदेश में हो रहा है। अखिलेश की पीठ थपथपाते हुए मुलायम ने कहा कि पढ़ाई व दवाई में उत्तर प्रदेश सबसे आगे है। प्रदेश में मुफ्त शिक्षा व मुफ्त इलाज की व्यवस्था है।

वायुसेना के विमानों के उडान एवं लैंडिंग के लिये भी उपयुक्त लगभग 302 किलोमीटर लम्बा यह एक्सप्रेस-वे जरुरत पडने पर हवाई पट्टी के तौर पर भी काम करेगा। सामरिक लिहाज से भी उम्मीद जगाने वाले देश के इस सबसे लंबे छह लेन के एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन अवसर पर भारतीय वायुसेना के सुखोई समेत अत्याधुनिक विमानों ने इस सड़क से उड़ान भरी।

सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने 302 किलोमीटर लम्बे इस एक्सप्रेस-वे के लोकार्पण अवसर पर इस परियोजना से जुडे अधिकारियों की जमकर तारीफ की और कहा कि चार साल में बनने वाला यह एक्सप्रेस-वे इन अफसरों की मेहनत की बदौलत मात्र दो साल में ही बनकर तैयार हो गया। इसके लिए मुख्यमंत्री के साथ-साथ अधिकारी भी बधाई के पात्र हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि जब एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास करने की बात आयी थी, तो उन्होंने पूछा था कि यह सडक कितने साल में बनेगी, जब इसके लिए चार साल का समय मांगा गया तो उन्होंने शिलान्यास से इनकार कर दिया था। बाद में 22 महीने का समय देकर आधारशिला रखी गयी थी। उसी का परिणाम है कि चार साल में बनने वाली सड़क दो साल में बन गई।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के अधिकारियों में समय से पहले काम पूरा करा देने की क्षमता है, वह मुख्यमंत्री के साथ-साथ उनके अनेक सहयोगी अधिकारियों को भी धन्यवाद देते हैं, पहले दिल्ली जाने में 12-14 घंटे लगते थे, अब ढाई-तीन घंटे में पहुंच जाएंगे। यह जनता के लिए बहुत सुविधाजनक होगा।





Share it
Top