मुलायम ने राष्ट्रीय अधिवेशन के सभी फैसलों को बताया असंवैधानिक, रामगोपाल पार्टी से फिर निकाले गए

मुलायम ने राष्ट्रीय अधिवेशन के सभी फैसलों को बताया असंवैधानिक, रामगोपाल पार्टी से फिर निकाले गए2 महीने में तीसरी बार सपा से निकाले गए रामगोपाल यादव।

लखनऊ (भाषा)। दो फाड़ हो चुकी समाजवादी पार्टी में हंगामा जारी है। मुलायम सिंह यादव ने आज बुलाए गए अधिवेशन को अंसवैधानिक करार देते हुए सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष होने के नाते सभी फैसलों को गैरकानूनी बता दिया है। उन्होंने अधिवेशऩ बुलाने पर रामगोपाल यादव को फिर से छह साल के लिए पार्टी से बाहर निकाल दिया है, साथ ही 5 जनवरी को अपनी तरफ से राष्ट्रीय अधिवेशन बुलाया है।

सपा मुखिया ने रामगोपाल यादव द्वारा बुलाए गए अधिवेशन में शामिल सभी लोगों को अनुशासनात्मक कार्रवाई की चेतावनी दी है। मुलायम ने जारी पत्र में कहा कि सपा के लोग पूर्व में राष्ट्रीय अध्यक्ष द्वारा जारी ही प्रत्याशियों की लिस्ट को ही संवैधानिक मानी जाए और आगे भी राष्ट्रीय अध्यक्ष ही बाकी उम्मीदवारों की लिस्ट जारी करेंगे।

सपा के राष्ट्रीय अधिवेशन के शुरू होने के थोड़ी ही देर बाद सपा मुखिया ने चिट्ठी जारी करके कहा कि आज रामगोपाल यादव द्वारा तथाकथित अधिवेशन बुलाया गया है। यह पार्टी के संविधान और अनुशासन के विरुद्घ है। यह पार्टी को क्षति पहुंचाने के लिए बुलाया गया है। उन्होंने कहा कि इस सम्मेलन में शिरकत को अनुशासनहीनता माना जाएगा और सम्मेलन में जो भी जाएगा, उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

मालूम हो कि जनेश्वर मिश्र पार्क में सपा का राष्ट्रीय अधिवेशन आयोजित किया जा रहा है। इसमें मंच पर सपा के वे सभी वरिष्ठ नेता मौजूद हैं, जो कभी मुलायम के बगलगीर थे।

Share it
Top