लालू ने अखिलेश व शिवपाल का पकड़ा हाथ पर अखिलेश ने छुए चाचा के पैर  

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   5 Nov 2016 1:55 PM GMT

लालू ने अखिलेश व शिवपाल का पकड़ा हाथ पर अखिलेश ने छुए चाचा के पैर  समाजवादी पार्टी के रजत जयंती समारोह में राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव, शिवपाल यादव और अखिलेश यादव।

लखनऊ (भाषा)। समाजवादी पार्टी के रजत जयंती समारोह में राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने आज चाचा शिवपाल और भतीजे अखिलेश का जैसे ही हाथ पकड़कर मिलाने की कोशिश की तो मुख्यमंत्री अखिलेश ने झुक कर झट चाचा के पैर छू लिए। पर प्रश्न यह है क्या तल्खियां दूर होती दिखीं?

सपा के रजत जयंती समारोह में हिस्सा लेने आए पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौडा ने भी शिवपाल और अखिलेश के हाथ विजयी मुद्रा में उठवाकर लोगों का अभिवादन किया।

समाजवादी पार्टी शनिवार को अपनी स्थापना के 25 वर्ष पूरे होने पर रजत जयंती समारोह मना रही है। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष चाचा शिवपाल ने जनेश्वर मिश्र पार्क के निर्माण के लिए भतीजे की जमकर तारीफ की। उन्होंने अपने स्वागत भाषण में साफ किया कि वह मुख्यमंत्री नहीं बनना चाहते। मुख्यमंत्री के रुप में अखिलेश ने अच्छा काम किया है। साथ ही कहा, ‘‘जो सपा का काम नहीं करेगा, उसे पद पर नहीं रहना चाहिए। पद उसी के पास रहना चाहिए जो ईमानदारी से काम करे और जिसके मन में त्याग की भावना है।''

शिवपाल सपा के प्रदेश अध्यक्ष हैं. उन्होंने पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं से स्पष्ट कहा कि अनुशासनहीनता किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उल्लेखनीय है कि हाल ही में सपा के भीतर चाचा भतीजे के बीच घमासान हो चुका है और सार्वजनिक रूप से दोनों के बीच की तल्खियां जनता ने देखी। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने राज्य मंत्रिपरिषद में कैबिनेट मंत्री रहे शिवपाल सिंह यादव को बर्खास्त कर दिया था।

शायद यही दर्द शिवपाल ने बयां करने की कोशिश की। उन्होंने कहा, ‘‘पद मिले ना मिले। मैं इसलिए कहना चाहता हूं कि पद से बड़ा कोई व्यक्ति नहीं होता। लोहिया और जयप्रकाश नारायण पर कोई पद नहीं था। हम आप उन्हीं के आदशो' पर चलेंगे। उनसे प्रेरणा लेंगे।''


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top