सपा के साथ गठबंधन का मतलब भाजपा को मदद करना: मायावती 

सपा के साथ गठबंधन का मतलब भाजपा को मदद करना: मायावती मायावती।

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती ने समाजवादी पार्टी द्वारा अन्य दलों के साथ गठबंधन पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि सपा के साथ गठबंधन करने का मतलब भाजपा को मदद करना होगा। सपा का गठबंधन घोर संकीर्ण और परिवारवादी स्वार्थ के साथ जनता को बरगलाने की कोशिश है। सपा द्वारा अन्य पार्टियों से महागठबंधन की कोशिश बताता हैं कि पार्टी हार मान चुकी है।

आपसी स्वार्थ में सपा बंटी हुई

पत्रकारों से बातचीत करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने सपा सरकार और मुलायम परिवार पर जमकर हमले किए। मायावती ने कहा कि भले ही सपा के लोग किसी पारिवारिक कलह से इंकार करें, लेकिन सपा के किसी भी कार्यक्रम में कलह दिख जाती है। आपसी स्वार्थ में सपा बंटी हुई है। पार्टी के बंटने से इनका जनाधार बंट गया है। आज हालात यह है कि जहां से शिवपाल के उम्मीदवार मैदान में होंगे, वहां अखिलेश समर्थक उनको हराने की कोशिश करेंगे। वहीं जहां पर अखिलेश समर्थक मैदान में होंगे, वहां अखिलेश के लोग उन्हें हराने की कोशिश करेंगे। ऐसी हालात में सपा को समर्थन देने का मतलब भाजपा को मजबूत करना होगा। सपा को अपना वोट देकर वोट ख़राब करने की ज़रूरत नहीं है।

महागठबंधन की कोशिश सपा की हार

सपा द्वारा अपनी रजत जयंती में अन्य पार्टी के नेताओं को बुलाकर महागठबंधन बनाने की कोशिश को मायावती ने सपा की हार बताते हुए कहा कि सपा सरकार ने पांच साल में ऐसा कोई ठोस काम नहीं किया, जिसके आधार पर दोबारा वोट दिया जाए। सपा के शासन में जातिवादी राजनीति को बढ़ावा मिला। दंगे की आग में पूरा प्रदेश जला। प्रदेश में हमारी बहन-बेटियां सुरक्षित नहीं है। प्रदेश में कानून का राज ना होकर गुंडों, भ्रष्टाचारियों का राज रहा। जिसके कारण प्रदेश में हर तबके का जीना मुहाल रहा।

दंगों के जिम्मेदारों को अब तक नहीं मिली सजा

मायावती ने सपा द्वारा बिहार में महागठबंधन का साथ छोड़ने पर इसे भाजपा को मदद पहुँचाने का मकसद बताते हुए कहा कि भाजपा और सपा में अंदरूनी मिलीभगत है। सपा और भाजपा के गठजोड़ से प्रदेश में दादरी और मुजफ्फरनगर दंगा हुआ और इन दंगों के जिम्मेदारों को सजा तक नहीं मिली।

भाजपा को बताया दलित-मुस्लिम विरोधी

बसपा सुप्रीमो ने भाजपा को दलित-मुस्लिम विरोधी बताते हुए कहा कि भाजपा एक तरफ तो उत्तर प्रदेश में दलित वोटों के लिए दलितों के यहां खाने का नाटक करती है, वहीं भाजपा शासित प्रदेशों में दलितों के ऊपर अत्याचार किया जाता है। रोहित वेमुला और ऊना में हुए दलितों पर हमले का उदहारण देते हुए मायावती बोलीं कि भाजपा शासित प्रदेशों में सबसे ज़्यादा दलितों का शोषण हुआ है। विधानसभा चुनाव में भाजपा को दलितों का एक भी वोट नहीं मिलने वाला है। पूर्व मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ढाई साल के शासन में पूरे देश और खासकर उत्तर प्रदेश में अपने किए वादे के एक तिहाई भी काम पूरा किया होता तो विधानसभा चुनाव से कुछ दिन पहले कांग्रेस पार्टी की तरफ परिवर्तन रैली निकालने की ज़रूरत नहीं पड़ती। अगर भाजपा काम की होती तो उसे आरएसएस के लोगों को नकली दलित और बौद्ध भिक्षु बनाने की ज़रूरत नहीं होती। भाजपा ने आरएसएस के एजेंडे पर चलकर मुसलमानों को शोषण किया है।

परिवर्तन रैली के जरिये दलित विरोधी परिवर्तन

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि भाजपा परिवर्तन रैली के जरिए तानाशाही, निरंकुश, गरीब-मजदूर विरोधी, दलित विरोधी परिवर्तन लाना चाहती है। केंद्र सरकार के आधे समय के कार्यकाल में ही लोग उसकी तानाशाही रवैये देख लिए हैं। अपने ढाई साल के शासन में भाजपा ने लोकतान्त्रिक मूल्यों का हनन किया है। देश निरंकुश तानाशाही में बदल रहा है, इसके घटक परिणाम आ सकते हैं।

भाजपा का तानाशाही रवैया हावी

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार के तानाशाही रवैये के खिलाफ देश भर में विभिन्न स्तर पर संघर्ष जारी है। नरेंद्र मोदी सरकार में सीमा भी सुरक्षित नहीं है। सरकार ने एक न्यूज़ चैनल को एक दिन के लिए बंद कर लोकतंत्र के लिए अशोभनीय और निंदनीय काम किया है। केंद्र सरकार अपनी कमियों और विफलताओं को छुपाने के लिए लोकतंत्र की गला घोट रहा है। बसपा सुप्रीमो ने कहा कि भाजपा को ना ही उत्तर प्रदेश की सत्ता से दूर रखना है, बल्कि 2019 में केंद्र से भी उसे हटकर देश को बचाना है।

बसपा नहीं करेगी किसी पार्टी से गठबंधन

बसपा सुप्रीमो ने किसी पार्टी से गठबंधन के मुद्दे पर बोलते हुए कहा कि बसपा सिर्फ एक पार्टी ही नहीं, मूवमेंट भी है। बसपा लगातार गैरबराबरी वाली सामाजिक व्यवस्था को बदलकर समतामूलक समाज बनाने की कोशिश कर रही है। देश में कोई भी पार्टी हमारी विचारधारा से सहमत नहीं है। इसलिए बसपा किसी भी पार्टी से चुनावी गठबंधन नहीं करेगी।

Share it
Top