मेरठ में विजय शंखनाद रैली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा, उत्तर प्रदेश को ‘स्कैम’ से दिलाना है मुक्ति

मेरठ में  विजय शंखनाद रैली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा, उत्तर प्रदेश को ‘स्कैम’ से दिलाना है  मुक्तिमेरठ में बीजेपी की विजय शंखनाद रैली को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

मेरठ (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017 के तहत मेरठ में भारतीय जनता पार्टी की विजय शंखनाद रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज आरोप लगाया कि उन्होंने नोटबंदी से जिन भ्रष्ट लोगों को धन निकलवाया था वे ही उन्हें हराने के लिए एकजुट हो गए हैं। उन्होंने सपा-कांग्रेस गठबंधन को निशाना बनाते यह भी आरोप लगाया कि हाल तक एकदूसरे पर आरोप लगाने वाली ये दोनों पार्टियां खुद को बचाने के लिए अब गले मिल गई हैं।

उत्तर प्रदेश को 'स्कैम' से मुक्ति दिलाना है : मोदी

मोदी ने उत्तर प्रदेश के लोगों से स्कैम से निजात पाने को कहा। इसमें एस का मतलब समाजवादी पार्टी, सी का मतलब कांग्रेस, ए का मतलब अखिलेश यादव और एम से मायावती है। प्रधानमंत्री ने कहा कि लोगों को भाजपा के विकास एजेंडा तथा अपराधियों को शरण देने वाले, वोट बैंक राजनीति करने वालों और भूमि एवं खनन माफिया को प्रोत्साहन देने वालों में से किसी एक का चुनाव करना होगा।

यूपी का भाग्य बदलने के लिए राज्य सरकार बदलना जरूरी

एक घंटे से अधिक दिए भाषण में उन्होंने राज्य में कथित रूप से व्याप्त भ्रष्टाचार, कानून एवं व्यवस्था की स्थिति, भाई-भतीजावाद की चर्चा करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश का भाग्य बदलने के लिए राज्य की सरकार बदलना जरूरी है।

अभी यूपी का कर्ज चुकाना है मुझे

उन्होंने कहा कि उन्हें उत्तर प्रदेश ने ही प्रधानमंत्री बनाया है और वह उसका कर्ज उतारना चाहते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ यह तभी होगा जब कोई सरकार विकास के लिए केंद्र से हाथ मिलाए। इस सरकार की तरह नहीं जो इसके विकास में ‘बाधक ' है। कांग्रेस एवं समाजवादी पार्टी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने समाजवादी पार्टी के खिलाफ अभियान चलाया था। उन्होंने हैरत जताई कि ऐसा क्या हुआ जिससे दोनों ने अब हाथ मिला लिए। उन्होंने कहा, ‘‘रातों रात ऐसा क्या हुआ कि वे गले मिल गए। जो खुद अपने को नहीं बचा सकते, वे उत्तर प्रदेश को भी नहीं बचा सकते।''

मध्यम वर्ग को ध्यान में रखकर बनाया गया बजट

किसानों को लुभाते हुए उन्होंने छोटे एवं सीमांत किसानों के ऋण माफ के पार्टी के वादे को दोहराया और सत्ता में पार्टी के आने पर गन्ना उत्पादकों के बकाया को 14 दिन में चुकाने को कहा। गरीब एवं किसान समर्थक होने का दावा करते हुए मोदी ने कहा कि हाल का बजट उनके और मध्यम वर्ग के लोगों को ही ध्यान में रखकर बनाया गया।

ब्रिटिश शासन के दौरान 1857 में विद्रोह का सूत्रपात मेरठ से ही होने की बात की ओर ध्यान दिलाते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने गरीबी, भ्रष्ट ताकतों और भू माफियाओं के खिलाफ लड़ाई का प्रारंभ करने के लिए इसी स्थान का चुना है।

प्रधानमंत्री ने नोटबंदी और सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर विपक्ष पर निशाना साधा और कहा कि वह शिखर से व्यवस्था को बदलने के लिए प्रतिबद्ध हैं और उन्हें छोटी लड़ाइयों में कोई रुचि नहीं है।उन्होंने कहा, ‘‘पार्टी टिकट बेचकर करेंसी नोट से कमरे भरने वाले लोग बहुत चिंतित हो गए क्योंकि मैंने आठ नवंबर को रात आठ बजे घोषणा कर उनको धन बैंकों में जमा करवाने के लिए मजबूर कर दिया।‘'' मोदी ने कहा, ‘‘मैं जानता हूं कि वे सब मेरे खिलाफ एकजुट हो जाएंगे। वे तूफान उठा देंगे क्योंकि मोदी ने उन्हें लूट लिया। वे उसे (मोदी को) नीचे ले आएंगे।''

उन्होंने कहा, ‘‘आपको क्या लगता है कि भ्रष्टाचार समाप्त होना चहिए और काला धन समाप्त होना चाहिए। मैं यही कर रहा हूं और न तो खुद चैन से बैठूंगा और इन लूटने वालों को भी चैन नहीं लेने दूंगा। मेरा विरोध करने के लिए भले ही जितने भी लोग एकजुट हो जाए, मेरी लड़ाई नहीं रुकेगी। मोदी नहीं रुकेगा।'' कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी की कर्नाटक सरकार के एक मंत्री के पास 150 करोड़ रुपए पाए गए और उसने संबंधित मंत्री के खिलाफ कुछ नहीं किया।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर हमला

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि पहले उनकी सरकारी चिंता परिवार को लेकर थी, उसके बाद अपने बारे में और अब कुर्सी को लेकर है। उन्होंने आरोप लगाया कि सपा में ऐसे लोगों को भी टिकट दिए गए जिनमें खनन माफिया चलाने, अपराधियों, बलात्कारियों और भूमि पर कब्जा करने वालों को संरक्षण देने आरोप है।

उत्तर प्रदेश में देश का अव्वल राज्य बनने की संभावना

मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में देश का अव्वल राज्य बनने की संभावना है कि किन्तु वह अपनी सरकारोंं के कारण गरीबी और बेरोजगारी में फंसा हुआ है। उन्होंने कहा, ‘‘आपने मुझे प्रधानमंत्री बनाया और मैंने राज्य को सम्मान दिलाने के लिए अपनी क्षमता में सब कुछ किया। फिर भी कुछ कर्ज चुकाया जाना बाकी है। पिछले ढाई साल में मैंने किसानों, गरीबों, वंचितों, दलितों के लिए काफी किया है, फिर भी कुछ किया जाना बाकी है।''

केंद्र ने 2015-16 में स्वास्थ्य देखभाल विकास के लिए उत्तर प्रदेश में जो 7000 करोड़ रुपए भेजे थे, उसमें से मात्र 2800 करोड़ रुपए ही व्यय किए गए। स्वच्छ अभियान के 950 करोड़ रुपए में से 40 करोड़ रुपए तक खर्च नहीं किए गए।
नरेन्द्र मोदी, प्रधानमंत्री

उन्होंने अखिलेश सरकार पर राज्य के विकास में इच्छुक नहीं होने का आरोप लगाते हुए इसके समर्थन में कई और आंकड़े दिए। उन्होंने कहा, ‘‘वह (सपा सरकार) विश्वास करती है कि यदि धन उसके वोट बैंक पर खर्च नहीं किया जा सकता है तो वह उस धन को बेकार जाने जाती है। मुझे बताइए कि बीमार लोगों को दी जाने वाली सहायता वोटबैंक की राजनीति पर आधारित होनी चाहिए।''

पूरे दिन चाचा, बेटा, पापा, भतीजे में व्यस्त रहती है सपा सरकार

मोदी ने यादव परिवार के बीच आपसी खींतचान पर कटाक्ष करते हुए कहा, ‘‘पूरे दिन सरकार चाचा, बेटा, पापा, भतीजे में व्यस्त रहती है..यदि आप उत्तर प्रदेश की तकदीर बदलना चाहते हैं, सरकार बदल दीजिए। आप अपने वोटों से स्कैम का शासन को ध्वस्त कर दीजिए।'' मोदी ने अपना अधिकतर राजनीतिक हमला सपा-कांग्रेस गठबंधन पर केन्द्रित रखा और बसपा का उल्लेख मामूली रूप से किया।

सेना के लक्षित हमले का उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा कि अभी तक हमारे सशस्त्र बलों के साहस को कमतर किया गया तथा शत्रु उन्हें रात में मारकर गायब हो जाता था। किन्तु पहले बनाए गए माहौल के कारण वे अपनी बंदूकों का प्रयोग नहीं कर पाते थे। उन्होंने कहा, ‘‘अब दुनियाभर के देश इस बात का अध्ययन कर रहे हैं कि कैसे भारतीय बलों ने पाकिस्तानी भूमि में इस प्रकार का अभियान किया। हमनें उनका (शत्रु का) हिसाब चुकता कर दिया।''

प्रधानमंत्री कहा कि अन्य राजनीतिक नेता दिवाली और अपना जन्मदिन मनाने के लिए अलग अलग जगह पर जाते हैं वह सीमा पर तैनात बलों के पास जाते हैं। उन्होंने लक्षित हमले पर सवाल उठाने वाले विपक्षी दलों को निशाने पर लिया और आरोप लगाया कि उनमें से कुछ ने तो अभियान पर संदेह ही जता दिया क्योंकि अभियान में किसी भारतीय सैनिक ने जान नहीं गंवाई।

Share it
Top