उत्तराखंड निर्माण की विरोधी कांग्रेस आज फिर दमनकारियों की गोद में जा बैठी : मोदी  

उत्तराखंड निर्माण की विरोधी कांग्रेस आज फिर दमनकारियों की गोद में जा बैठी : मोदी   नरेंद्र मोदी।

श्रीनगर (भाषा)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज उत्तराखंड में जनता के भावनात्मक तार छेड़ते हुए कहा कि राज्य निर्माण का घोर विरोध करने वाली सत्ताधारी कांग्रेस आज एक बार फिर आंदोलनकारियों का दमन करने वाली समाजवादी पार्टी की गोद में जाकर बैठ गयी है।

प्रदेश में 15 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए आखिरी चरण में पहुंच चुके प्रचार के दौरान पौड़ी जिले के श्रीनगर में विजय संकल्प रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस एक बार फिर उसी समाजवादी पार्टी से जाकर मिल गयी है जिसकी सरकार ने पृथक राज्य के आंदोलन के दौरान लोगों पर अत्याचार किये, गोलियां चलाईं और माताओं के साथ बलात्कार किया।

उन्होंने कहा कि इस कांग्रेस ने उत्तराखंड में जनता के बलिदानों और उनके घावों पर नमक छिड़कने और एसिड डालने का पाप किया है।

हरीश रावत पर साधा निशाना

प्रदेश के मुख्यमंत्री हरीश रावत को सीधे निशाने पर लेते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आज जो सीएम हैं उन्होंने उत्तराखंड के विरोध में क्या नहीं किया। यह मुख्यमंत्री पिछले दरवाजे से घुस कर सत्ता में आ गये हैं वरना जनता इन्हें मुख्यमंत्री नहीं बनने देती। उत्तराखंड में भी पर्दे के पीछे कांग्रेस और समाजवादी पार्टी के मिले होने का आरोप लगाते हुए मोदी ने जनता से प्रदेश के विकास के लिये भाजपा की सरकार लाने को कहा। प्रधानमंत्री ने कहा, यह चुनाव केवल सीएम को सजा देने के लिये नहीं है बल्कि यह चुनाव उत्तराखंड का भाग्य बदलने के लिये है।

उत्तराखण्ड पिछड़ गया

इस संबंध में मोदी ने उत्तराखंड के साथ बने दो अन्य राज्यों छत्तीसगढ़ और झारखंड का जिक्र करते हुए कहा कि नक्सलवाद से ग्रस्त होने और पिछड़े होने के बावजूद ये राज्य भाजपा के कारण विकास की दौड़ में कहीं आगे निकल गये हैं जबकि उत्तराखंड पिछड़ गया है। पर्यटन, तीर्थाटन, जड़ी-बूटी विकास, जलविद्युत, रेल, आल वेदर चारधाम रोड नेटवर्क, योग और पर्यावरण को उत्तराखंड की ताकत बताते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इन अपार संभावनाओं वाले क्षेत्रों को गति देने से प्रदेश में रोजगार सृजन होगा और पलायन रुकेगा तथा अगले पांच साल में वह सबसे तेज गति से विकसित होने वाले राज्यों में शामिल हो जाएगा। उन्होंने जनता से सवाल पूछते हुए कहा, यदि इन सभी क्षेत्रों की ताकत को जोड़ दें तो बताइए कि इनसे पलायन रुकेगा या नहीं।

Share it
Top