एनआरआई नहीं डाल पाएंगे ई-वोट, केंद्र सरकार ने प्रस्ताव खारिज किया

एनआरआई नहीं डाल पाएंगे ई-वोट, केंद्र सरकार ने प्रस्ताव खारिज कियाप्रतीकात्मक फोटो।

नई दिल्ली (भाषा)। केंद्रीय कैबिनेट ने आज एक प्रस्ताव को खारिज कर दिया जिसमें चुनाव से जुड़े कानूनों में संशोधन कर अनिवासी भारतीयों को इलेक्ट्रॉनिक तरीके से मतदान करने की सुविधा का प्रस्ताव था।

सरकार में सूत्रों ने कहा कि जनप्रतिनिधित्व अधिनियम में संशोधन का प्रस्ताव कैबिनेट के एजेंडे का हिस्सा था लेकिन इसे टाल दिया गया। कैबिनेट की बैठक आज सुबह हुई। प्रस्ताव को टालने के कारणों के बारे में फिलहाल पता नहीं चल पाया है।

नियमों में बदलाव कर सशस्त्र बलों में सेवारत कर्मियों सहित नौकरीपेशा लोगों को इलेक्ट्रॉनिक साधनों से पोस्टल बैलट हासिल करने की सुविधा दी गई है। उनके पास प्रतिनिधि के माध्यम से वोट डालने का विकल्प है। अनिवासी भारतीयों के लिए जनप्रतिनिधित्व कानून में संशोधन करने की जरूरत है ताकि वे पोस्टल बैलट और प्रतिनिधित्व वोटिंग में शामिल हो सकें।

चुनाव आयोग में इस मुद्दे पर काम कर रही एक विशेषज्ञ समिति ने 2015 में कानून मंत्रालय के वैधानिक संरचना को अग्रसारित किया था ताकि चुनाव कानूनों में संशोधन कर अनिवासी भारतीयों को प्रतिनिधित्व वोटिंग और ई-बैलेट सुविधा की अनुमति दी जा सके।

आंकड़ें दर्शाते हैं कि केवल दस हजार से 12 हजार अनिवासी भारतीयों ने वोटिंग की है क्योंकि देश में आकर वोट डालने के लिए वे धन खर्च नहीं करना चाहते।

Share it
Top