यूपी में एंबुलेंस सेवा से अब हटाया जाएगा “समाजवादी” शब्द

Rishi MishraRishi Mishra   25 Feb 2017 5:46 PM GMT

यूपी में एंबुलेंस सेवा से अब हटाया जाएगा “समाजवादी” शब्दसमाजवादी एंबुलेंस सेवा

लखनऊ। समाजवादी एंबुलेंस सेवा से समाजवादी शब्द हटाया जाएगा। चुनाव आयोग की ओर इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है। इस संबंध में उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य विभाग को चुनाव आयोग की ओर से निर्देश जारी कर दिये गये हैं। इस संबंध में कार्रवाई बीजेपी नेता जेपीएस राठौर की शिकायत पर आयोग ने किया। कुछ दिनों पहले बीजेपी नेता जेपीएस राठौर ने मुख्य चुनाव अधिकारी टी वेंकटेश से मिल कर शिकायत की थी कि, समाजवादी एंबुलेंस सेवा से सत्ताधारी दल का प्रचार सरकारी साधन के माध्यम से किया जा रहा है। ये आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है। इस शिकायत की जांच के बाद राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी टी वेंकटेश ने प्रमुख सचिव आरके श्रीवास्तव को इस संबंध में जरूरी कार्रवाई करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि समाजवादी एंबुलेंस सेवा जहां जहां भी प्रिंट किया गया है, उस पर एक्शन लिया जाए।

2012 में कुछ इस तरह से ढके गए थे पत्थर के हाथी।

2012 में ढके गए थे पत्थर के हाथी

2012 साल 2012 में इसी तरह के एक मामले में बसपा काल के स्मारकों में पत्थर के हाथी और मायावती की प्रतिमाओं को ढक दिया गया था। तब सपा के महानगर अध्यक्ष मुजीबुर्ररहमान बबलू की शिकायत पर ये एक्शन लिया गया था। तब नोएडा और लखनऊ में पालीथिन से हाथी ढंके गए थे। माया की विशाल प्रतिमाओं को लकड़ी से ढका गया था। यहां तक चुनाव तक के लिए रखरखाव के नाम पर स्मारकों को भी दर्शकों के लिए बंद करवा दिया गया था।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top