शिवसेना ने भाजपा को महाराष्ट्र के विभाजन को लेकर चेताया    

शिवसेना ने भाजपा को महाराष्ट्र के विभाजन को लेकर चेताया    शिवसेना चुनाव चिन्ह।

मुंबई (भाषा)। शिवसेना ने भाजपा पर ताजा हमला करते हुए कहा कि वह 2014 में महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में ज्यादा सीटें जीत सकी थी तो वह उस समय मौजूद कुछ ‘दुर्भाग्यपूर्ण परिस्थितियों' के कारण हो सका था लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि भाजपा को राज्य को विभाजित करने का जनादेश मिल गया है।

शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘‘सामना'' में प्रकाशित एक संपादकीय में छोटे राज्यों के लिए भाजपा की प्राथमिकता का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘आप (भाजपा) को दुर्भाग्यपूर्ण परिस्थितियों में 2014 के विधानसभा चुनाव के दौरान ज्यादा सीटें मिलीं थीं और मुख्यमंत्री का पद मिला था लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि आपको महाराष्ट्र को विभाजित करने का लाइलेंस मिल गया।''

संपादकीय में कहा गया है, ‘‘अगर राज्य को विभाजित करने के प्रयास किये गये तो विदर्भ क्षेत्र के लोग बड़े स्तर पर विरोध करेंगे। मुख्यमंत्री (देवेंद्र फडनवीस) और अन्य भाजपा नेताओं के महाराष्ट्र के साथ राजनीतिक संबंध है लेकिन क्या उनके भावनात्मक स्तर पर संबंध भी हैं? भाजपा छोटे राज्यों के गठन में भरोसा कर सकती हैं लेकिन उन्हें यह प्रयोग गुजरात, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु या पश्चिम बंगाल जैसे अन्य राज्यों में करना चाहिए। महाराष्ट्र को विभाजित करने की कोशिश ना करें।'' शिवसेना ने अपने पुराने सहयोगी भाजपा के साथ कोई चुनावी समझौता नहीं करने का फैसला किया है ओैर उसपर हमले तेज कर दिए हैं। बेहतर प्रबंधन के लिए छोटे राज्यों की वकालत करने पर उसपर निशाना साधा है।

बहरहाल, फडनवीस कई बार कह चुके हैं कि महाराष्ट्र का विभाजन उनकी सरकार के एजेंडे में नहीं है। शिवसेना ने भाजपा पर यह आरोप लगाते हुये गत सप्ताह नगरपालिका चुनाव के लिए प्रचार अभियान की शुरुआत की थी कि भाजपा मुंबई को विभाजित करने से भी नहीं हिचकेगी।

Share it
Top