पीएम का सात किमी लंबा काफिला, मगर ये रोड शो नहीं था

पीएम का सात किमी लंबा काफिला, मगर ये रोड शो नहीं थावाराणसी में प्रधानमंत्री की रैली।

मुख्य संवाददाता

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के शनिवार को सात किलोमीटर लंबे काफिले और हजारों लोगों की भीड़ को जिलाधिकारी वाराणसी ने रोड शो नहीं माना है। डीएम की ओर से औपचारिक तौर पर कहा गया कि, ये कोई रोड शो नहीं था। जबकि बीएचयू से लेकर पीएम काशी विश्वनाथ और इसके बाद भैरवनाथ मंदिर तक खुली गाड़ी में दर्शन करने के लिए गए हुए थे। इसको रोड शो नहीं माना जा सकता है। इसके बाद में बीजेपी की ओर से प्रधानमंत्री के अधिकृत रोड शो की इजाजत निर्वाचन आयोग से इजाजत मांगी गई। ये इजाजत मिलने के बाद रविवार को एक और रोड शो तय हो गया। जिसके बाद में पीएम यहां एक जनसभा भी करेंगे।

चुनाव से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काशी विश्वनाथ दर्शन के दौरान भारी भीड़ उमड़ी करीब सात किलोमीटर लंबा काफिला रहा। विपक्षी दलों ने इसको लेकर जम कर आरोप लगाए कि देश के प्रधानमंत्री ने बिना इजाजत ही रोड शो आयोजित किया। निर्वाचन आयोग की ओर से डीएम वाराणसी ने बताया कि ये कोई रोड शो नहीं था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुली गाड़ी से बाबा विश्वनाथ के दर्शन करने गए थे। इस दौरान उनको देखने के लिए भीड़ उमड़ी।

दूसरी ओर, भाजपा अब प्रधानमंत्री मोदी के औपचारिक रोड शो की बात कर रही है। रविवार को वाराणसी में विधानसभा प्रत्याशियों के पक्ष में रोड-शो करेंगे। इसके अलावा एक जनसभा को संबोधित करेंगे। प्रदेश मीडिया प्रभारी हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने जानकारी दी कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दोपहर 03 बजे पाण्डेयपुर चौराहे से रोड-शो प्रारम्भ कर चौकाघाट, तेलियाबाग, मलदहिया, पटेलचौक होते हुए 05.30 बजे महात्मा विद्या पीठ पहुंचेगे जहां विजय शंखनाद रैली को संबोधित करेंगे तथा 08.30 बजे शायं डीएलडब्लू में प्रबुद्ध मिलन कार्यक्रम में भाग लेंगे। कल प्रधानमंत्री रात्रि विश्राम अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में करेंगे।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top