मुलायम मजबूर नेता, अपना घर नही संभाल पा रहे हैं यूपी क्या संभालेंगे: BJP 

मुलायम मजबूर नेता, अपना घर नही संभाल पा रहे हैं यूपी क्या संभालेंगे: BJP सुधांशु त्रिवेदी, प्रवक्ता, बीजेपी

कानपुर (भाषा)। समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह को पारिवारिक झगड़े में विवश और मजबूर बताते हुये भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने सोमवार को कहा कि पहले वह जनता के नेता थे और अब वह केवल एक परिवार के नेता भर रह गये हैं।

त्रिवेदी ने कहा कि मुलायम सिंह यादव से उनका अपना परिवार संभल नही रहा है तो उनकी पार्टी से उत्तर प्रदेश कैसे संभलेगा। उन्होंने कहा, ‘‘समाजवादी पार्टी से उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था तो संभल नही पा रही थी अब घर के अंदर की कानून व्यवस्था भी उनके हाथ से निकल गयी है।'' BJP प्रवक्ता ने यहां पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से बात करते हुये कहा कि उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में SP को परिवार बचाना है, जबकि कांग्रेस को अपनी जमानत बचानी है और बहुजन समाज पार्टी को अपनी जमीन बचानी है। इसलिये BJP का सभी दलो में खौफ है और सभी पार्टियों के नेता BJP में अपने आप आ रहे हैं।

उन्होंने इस बात का सीधा जवाब नहीं दिया कि क्या SP से निष्काषित नेता राम गोपाल यादव को BJP अपनी पार्टी में शामिल करेगी। उन्होंने कहा कि अरुणाचल से लेकर उत्तर प्रदेश तक दूसरी पार्टियों के नेता लगातार BJP में शामिल हो रहे हैं। BJP प्रवक्ता त्रिवेदी ने कहा कि जब मुलायम सिंह यादव ने उत्तर प्रदेश की पहली बार सत्ता संभाली थी तो वह धरती पुत्र कहलाते थे और जनता के नेता थे लेकिन अब वह केवल अपने परिवार के नेता भर रह गये है। उनकी मजबूरी देखिये कि वह अपना परिवार नही संभाल पा रहे है तो वह प्रदेश क्या संभालेंगे।

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी ने उत्तर प्रदेश के आगामी चुनाव में अपनी पराजय स्वीकार कर ली है और जब किसी पार्टी की सत्ता जाने लगती है तो पार्टी और परिवार में इस तरह की लड़ाई होती है। उन्होंने आरोप लगाया कि असल में यह लड़ाई भ्रष्टाचार में हुई कमाई को लेकर है।

त्रिवेदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में समाजवादी परिवार में जो हो रहा है उससे राजनीति और रिश्तों की मर्यादा खत्म हो रही है। इस पारिवारिक ड्रामों पर उत्तर प्रदेश की जनता की बहुत गहरी नजर है और उसकी समझ में आ गया है कि SP और BSP एक ही सिक्के के दो पहलू हैं और अगर उत्तर प्रदेश में विकास कार्यों को बढावा देना है तो वह केवल BJP की सरकार ही दे सकती है।

उन्होंने दावा किया कि BJP उत्तर प्रदेश में पहले ही मजबूत थी और अब इस पारिवारिक झगड़े के बाद प्रदेश की जनता का विश्वास BJP की तरफ और बढा है और आगामी विधानसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में वह पूर्ण बहुमत से सरकार बनायेगी। उत्तर प्रदेश चुनाव में BJP का मुख्यमंत्री पद का चेहरा कौन होगा इस सवाल पर उन्होंने कहा कि इस बारे में फैसला पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और राष्ट्रीय कार्यकारिणी करेंगी।

Share it
Top