उत्तर प्रदेश चुनाव में प्रत्याशियों की भारी मांग के बावजूद नहीं दिख रही हैं सोनिया गांधी

Ashwani NigamAshwani Nigam   16 Feb 2017 7:28 PM GMT

उत्तर प्रदेश चुनाव में प्रत्याशियों की भारी मांग के बावजूद नहीं दिख रही हैं सोनिया गांधीसोनिया गांधी। फाइल फोटो

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दो चरण बीत चुके हैं। विधानसभा की कुल 403 सीटों में से लगभग एक तिहाई 140 सीटों पर चुनाव संपन्न हो चुके हैं लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी अभी तक चुनाव प्रचार में कहीं दिखाई नहीं दी हैं।

यह हाल तब है जब 25 जनवरी को कांग्रेस प्रचारकों की जारी सूची में सोनिया गांधी का पहले स्थान पर रखा गया था। लेकिन उनका चुनाव प्रचार में नहीं उतरना कई सवाल खड़े कर रहा है। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव प्रचार से सोनिया गांधी क्यों दूरी बना रखी हैं इसके बारे में पूछने पर यूपी कांग्रेस के मीडिया प्रभारी सत्यदेव त्रिपाठी ने बताया '' सोनिया गांधी जी का चुनाव प्रचार कार्यक्रम अभी तय नहीं है। हालांकि पूरे प्रदेश में चुनाव प्रचार करने के लिए उनकी भारी मांग है। ''

सोनिया गांधी जी का चुनाव प्रचार कार्यक्रम अभी तय नहीं है। हालांकि पूरे प्रदेश में चुनाव प्रचार करने के लिए उनकी भारी मांग है।
सत्यदेव त्रिपाठी, मीडिया प्रभारी. यूपी कांग्रेस

सक्रिय राजनीति में उतरने के बाद अभी तक के हर चुनाव में सोनिया गांधी पार्टी की स्टार प्रचारक रही हैं। सोनिया गांधी के नेतृत्व में ही यूपीए दो बार केन्द्र की सत्ता में आई। विभिन्न प्रदेशों जीत या हार चाहे जो भी रही हो सोनिया गांधी चुनाव प्रचार में उरती थीं। इस बार उनका प्रचार में नहीं उतरना कांग्रेस कार्यकर्ताओं का काफी खल रहा है। उत्तर प्रदेश महिला कांग्रेस की वरिष्ठ नेता अनंता तिवारी का कहना है '' आम जनता सोनिया गांधी जी से एक जुड़ाव महसूस करती है। सभी लोग चाहते हैं कि एक बार सोनिया जी उनके क्षेत्र में प्रचार करें। ''

सोनिया गांधी उत्तर प्रदेश के चुनाव से अपने का क्यों दूर रखी हैं इसको लेकर तमाम प्रकार की अटकलें है। माना जा रहा है कि सोनिया गांधी इस बार के विधनसभा चुनाव के हर प्रकार की गतिविधि से अपने का दूर रखी हैं। बात चाहे प्रदेश में सपा-कांग्रेस गठबंधन की हो या उम्दीवारों के चयन इसमें सोनिया की कोई भूमिका नहीं है। सोनिया गांधी के साथ ही उनके राजनीतिक सचिव अहमद पटेल भी यूपी के चुनाव से दूर हैं। हालांकि सोनिया गांधी के खास माने जाने वाले कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश के प्रभारी गुलाम नबी आजाद और राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जरूर यूपी में डेरा डालकर सपा-कांग्रेस गठबंधन की जीत के लिए रणनीतियां बना रहे हैं। सोनिया गांधी के साथ ही कांग्रेस स्टार प्रचारकों की सूची में जगह बनाने वाली प्रियंका गांधी भी अभी तक चुनाव प्रचार में नहीं उतरी हैं। माना जा रहा था कि वह अमेठी और रायबरेली में कांग्रेस-सपा गठबंधन के प्रत्याशियों का चुनाव प्रचार करेंगी लेकिन अभी तक उनका भी चुनाव प्रचार कार्यक्रम तय नहीं है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top