गठबंधन को लेकर कांग्रेस में बवाल, अमेठी सीट प्रजापति को मिलने पर अमिता सिंह के बगावती तेवर

गठबंधन को लेकर कांग्रेस में बवाल, अमेठी सीट प्रजापति को मिलने पर अमिता सिंह के बगावती तेवरटिकट कटने के बाद कांग्रेस के कई नेता हैं नाराज

लखनऊ। समाजवादी पार्टी और कांग्रेस में गठबंधन के उनके ही नेताओं ने सवाल उठाने शुरु कर दिए हैं। कांग्रेस के की नेताओं ने सीटों के बंटवारे पर खुलकर विरोध दर्ज कराया है। खासकर वो जिनके टिकट कटे हैं।

कांगेस की परंपरागत सीट अमेठी से कांग्रेस नेता अमिता सिंह ने बगावत का बिगुल बजा दिया है। सपा-कांग्रेस गठबंधन में यह सीट समाजवादी पार्टी के खाते में चली गई है। सपा ने यहां से मंत्री अखिलेश यादव की सरकार में मंत्री गायत्री प्रजापति को उम्मीदवार बनाया है। रविवार को जैसे ही सपा-गठबंधन ऐलान के बाद सपा ने इस सीटे से अपने मौजूदा विधायक गायत्री को उम्मीदवार बनाया उसके बाद से अमिता सिंह ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद संजय सिंह की पत्नी हैं। संजय सिंह अमेठी राजघराने से हैं। अमिता सिंह तीन बार विधायक रह चुकी हैं। साल 2002 में वह पहली बार बीजेपी और उसके बाद 2004 और 2007 में कांग्रेस के टिकट पर विधायक बनी थी। लेकिन पिछला चुनाव वह कांग्रेस के टिकट पर अमेठी से हार गईं थी। अमिता सिंह इस बार भी इस अमेठी सीट से कांग्रेस की संभावित उम्मीदवार थीं।

इसी बीच कांग्रेस को कम सीटें मिलने पर कांग्रेस के बड़े नेताओं का भी दर्द सामने आया है। प्रदेश प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने कहा कि पहले 140 सीटों पर बात बनी थी लेकिन चुनाव चिन्ह साइकिल मिलने पर उन्होंने ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला किया।

Share it
Top