यूपी में सपा-कांग्रेस के प्रत्याशियों की मांग, डिंपल और प्रियंका करें उनके क्षेत्र में रैली 

यूपी में सपा-कांग्रेस के प्रत्याशियों  की मांग, डिंपल और प्रियंका करें उनके क्षेत्र में रैली सपा-कांग्रेस गठबंधन उम्मीदवारों की मांग प्रियंका गांधी और डिंपल यादव है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में शबाब पर है। यूपी का किला फतह करने के लिए सभी राजनीतिक पार्टियों के बड़े नेता ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे हैं। बीजेपी की तरफ से जहां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अमित शाह ने मोर्चा संभाला है वहीं सपा-कांग्रेस गठबंधन के लिए अखिलेश यादव और राहुल गांधी की स्टार जोड़ी रोड शो से लेकर रैलियों का संबोधित कर रही है। लेकिन सपा-कांग्रेस गठबंधन उम्मीदवारों की मांग प्रियंका गांधी और डिंपल यादव है।

अखिलेश-राहुल गांधी की जोड़ी कमाल कर रही है। अगर डिंपल और प्रियंका गांधी साथ में प्रचार करेंगी तो उसका फायदा गठबंधन को होगा। लेकिन यह अभी तय नहीं हुआ है।
नरेश उत्तम,प्रदेश अध्यक्ष, सपा

सपा-कांग्रेस गठबंधन के दो दर्जन उम्मीदवारों ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और राहुल गांधी से लिखित रूप से यह मांग की है कि उनके क्षेत्र में दोनों प्रियंका और डिम्पल यादव की रैली या चुनाव सभा हो। हालांकि अभी तक कांग्रेस और सपा दोनों पार्टियों में से किसी ने भी प्रियंका और डिंपल यादव चुनावी कार्यक्रम के बारे कोई घोषणा नहीं की है।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी और कन्नौज की सांसद डिंपल यादव भी सपा नेताओं में स्टार प्रचारक की हैसियत रखती हैं। प्रियंका गांधी के साथ उनकी जोड़ी बनाकर-बनाकर बैनर-पोस्टर भी जारी किए हैं। इसके अलावा एक रथ भी तैयार किया जा रहा है। जिसके जरिए दोनों नेताओं के चुनाव प्रचार की बात की जा रही है। खजनी विधानसभा क्षेत्र से सपा-कांग्रेस के गठबंधन उम्मीदवार कमल किशोर का कहना है कि गठबंधन के उम्मीदवार चाहते हैं कि प्रियंका गांधी और डिंपल यादव साथ में आकर चुनाव प्रचार करें।

प्रियंका की इच्छा पर निर्भर करेगा की वो अमेठी और रायबरेली के बाहर प्रचार करेंगी या नहीं।
राहुल गांधी, पिछले दिनों लखऩऊ में

लेकिन दोनों पार्टियों के नेताओं का मानना है कि अगर यह दोनों नेता गठबंधन उम्मीदवारों के पक्ष में प्रचार करती हैं तो उसका मतदाताओं पर बहुत असर पड़ेगा। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग के अध्यक्ष और प्रवक्ता सत्यदेव त्रिपाठी ने कहा, ''उत्तर प्रदेश के आम मतदाताओं में प्रियंका गांधी को लेकर एक विशेष छवि है। मतदाता उनके अंदर इंदिरा जी की छवि देखता है। वह मतदाताओं से सीधे जुड़ जाती हैं।'' हालांकि विधानसभा में प्रियंका गांधी के चुनाव प्रचार को लेकर उनका कहना है कि यह निर्णय प्रियंका गांधी का होगा वह चुनाव प्रचार करत हैं या नहीं। वहीं सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम कहा कहना है, ''अखिलेश यादव और राहुल गांधी की जोड़ी कमाल कर रही है। दोनों नेताओं की रैलियों में भारी भीड़ उमड़ रही है। अगर डिंपल यादव और प्रियंका गांधी साथ में प्रचार करेंगी तो उसका फायदा गठबंधन को होगा। लेकिन यह अभी तय नहीं हुआ है।''

कांग्रेस की स्टार प्रचारक माने जाने वाली प्रियंका गांधी अभी तक सिर्फ लोकसभा चुनाव में रायबरेली और अमेठी ही प्रचार के लिए निकली हैं। जहां से उनकी मां कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और भाई कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी चुनाव लड़ते हैं। राजनीति में आने की अटकलों को भी प्रियंका गांधी ने हमेशा खारिज किया है। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सपा और कांग्रेस के गठबंधन में प्रियंका गांधी की भूमिका मानी जा रही है। सपा सांसद डिंपल यादव अभी अपने को अपने संसदीय क्षेत्र कन्नोज तक सीमित किया हुआ है। हालांकि इस बार विधानसभा चुनाव के प्रचार में जब अखिलेश यादव विजय रथ लेकर निकले थे तो वह अपने परिवार के साथ उसमें सवार हुई थी। इसके बाद भी वह कई मौकों पर मुख्यमंत्री के साथ नजर आईं लेकिन अभी तक उन्होंने विधानसभा चुनाव में किसी क्षेत्र के चुनावी रैली या रोड शो में हिस्सा नहीं लिया है।

Share it
Top