Live: अखिलेश के तेवरों से समाजवादी पार्टी में गहराया संकट, पढ़ें हर अपडेट 

Live: अखिलेश के तेवरों से समाजवादी पार्टी में गहराया संकट, पढ़ें हर अपडेट अखिलेश यादव, मुख्यमंत्री

लखनऊ। रविवार सुबह समाजवादी पार्टी की कलह खुलकर तब सामने आ गई जब मुख्यमंत्री अखिलेश सिंह यादव ने बुलाई गई एमएलसी, विधायकों और जिला अध्यक्षों की बैठक में शिवपाल समेत चार मंत्रियों को बर्खास्त करने का ऐलान कर दिया।

जो अमर सिंह के करीबी, वो कैबिनेट में नहीं रहेंगे

राज्यपाल को सरकार की ओर से शिवपाल यादव समेत नारद राय, ओम प्रकाश सिंह और शादाब फातिमा को बर्खास्त करने का आवेदन बैठक के साथ ही भेज दिया गया। राजभवन की ओर से आवेदन को माने जाने की सूचना तुरंत आ गई। बैठक में अखिलेश ने यह भी कहा कि जो भी अमर सिंह के करीबी हैं वो कैबिनेट में नहीं रहेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि जो भी पिता-पुत्र के बीच आएगा उसे कार्रवाई झेलनी पड़ेगी। इस घटनाक्रम के तुरंत बाद ही बर्खास्त किये गए सभी नेता सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के घर पर जुटे।

रामगोपाल यादव पार्टी से छह साल के लिए बर्खास्त

इस बैठक के बाद शिवपाल सिंह यादव ने समाजवादी पार्टी के कार्यलय में दो बार प्रेस कांफ्रेंस की। उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस में यह ऐलान किया कि पार्टी के महासचिव रामगोपाल यादव को पार्टी से छह साल के लिए बर्खास्त किया जाता है। इस पूरे घटनाक्रम के दौरान कालीदास मार्ग पर शिवपाल और मुलायम सभी के समर्थक जुटते रहे और नारेबाज़ी होती रही। कुछ अखिलेश समर्थकों ने अमर सिंह के पोस्टर भी फाड़े और जलाए।

क्या मुलायम लेंगे अखिलेश को सीएम पद से हटाने का फैसला?

फर्स्ट पोस्ट वेबसाइट ने अपने सूत्रों के हवाले से कहा कि मुलायम सिंह यादव अखिलेश को मुख्यमंत्री पद से हटाने का फैसला ले सकते हैं। वे अखिलेश के हालिया फैसलों से नाराज़ हैं।

वेबसाइट के मुताबिक मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश को कुछ दिन पहले सख्त हिदायत दी थी कि कोई भी ऐसा काम न करें जिससे पार्टी में दरार पड़े।

लेकिन अब जब अखिलेश यादव ने शिवपाल सिंह और अमर सिंह को लेकर अपना रुख स्पष्ट कर दिया है तो मुलायम उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर सकते हैं।

अखिलेश समर्थकों ने अमर सिंह के खिलाफ कुछ इस तरह जताया विरोध।
राजधानी में कालीदास मार्ग पर अमर सिंह का विरोध जताते अखिलेश समर्थक।

Share it
Top