योगी सरकार के 100 दिन: किसानों को कर्ज़माफी और चुस्त क़ानून व्यवस्था की आस

योगी सरकार के 100 दिन: किसानों को कर्ज़माफी और चुस्त क़ानून व्यवस्था की आसकर्जमाफी की घोषणा के बाद भी किसानों को अब तक राहत नहीं मिल सकी है।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। योगी सरकार के 100 दिन पूरे होने पर किसानों ने मुख्यमंत्री से जल्द कर्जमाफी की आस की है क्योंकि कर्ज माफी की घोषणा के बाद भी किसानों को अब तक राहत नहीं मिल सकी है।इलाहाबाद के हरभोंगवा गाँव निवासी छोटेलाल यादव (62 वर्ष) कहते हैं, “सरकार किसानों का बैंक कर्ज माफ कर पूरे देश मे पीठ थप-थपाने का काम तो कर रही है, लेकिन अभी तक सभी किसानों को बैंक की ओर से नो ड्यूज नहीं मिल पाया है, ऐसे में किसान अभी भी आशा लगाएं बैठे हैं।“

मेरठ के मवाना ब्लॉक के गाँव अटौड़ा निवासी किसान हरिराम (43 वर्ष) बताते हैं, “ चुनाव से पहले कर्ज माफ करने में कोई शर्त नहीं रखी गई थी, लेकिन सरकार में आते ही नियम और शर्तों के आधार पर कर्ज माफी की घोषणा की। सरकार कर्ज माफी के नाम पर 100 दिन पूरे होने का ढोल पीट रही है।”

ये भी पढ़ें- नुकसान से बचना है तो किसान बीज, कीटनाशक और उर्वरक खरीदते समय बरतें ये सावधानियां

शाहजहांपुर के बरूआ गाँव के ठाकुर मुनेश्वर सिंह (50 वर्ष) बताते हैं, “मुख्यमंत्री योगी जी द्वारा 100 दिन पूरे होने पर किसानों को दी जाने वाली राहत में कोई भी खास लाभ नहीं हुआ है। कहा गया था कि शत प्रतिशत कर्ज माफ कर दिया जाएगा, लेकिन अभी तक किसी भी किसान का कोई भी कर्ज माफ नहीं किया गया है। बैंक किसानों को निरंतर नोटिस भेज रही है, जबकि शासनादेश के अनुसार नोटिस नहीं भेजा जाना चाहिए। इसके यह निष्कर्ष निकलता है कि शासनादेश के अधिकारीगण पूर्ण रूप से पालन नहीं कर रहे हैं और अनदेखी कर रहे हैं।”

दूसरी ओर, दोहरिया गाँव निवासी नंद किशोर सिंह (65 वर्ष) का कहते हैं, “इतने दिन में किसी सरकार या व्यक्ति के बारे में कुछ कह पाना जल्दीबाजी होगी। इतने लंबे समय बाद भाजपा सत्ता में आई है तो इतना समय तो कार्ययोजना और उसकी रूपरेखा तैयार करने में लग जायेगा। फिर भी सरकार कुछ ऐतिहासिक फैसले ली है जिससे आगे भी कुछ अच्छा होने की उम्मीद बनी हुई है।“

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top