सोशल मीडिया पर 150 यूजर्स की करतूत यूपीएसटीएफ की रडार पर

Abhishek PandeyAbhishek Pandey   11 Dec 2017 10:58 PM GMT

सोशल मीडिया पर 150 यूजर्स की करतूत यूपीएसटीएफ की रडार परफोटो साभार: इंटरनेट

लखनऊ। यूपी एसटीएफ ने सोशल मीडिया पर धार्मिक उन्माद फैलाने और प्रदेश का माहौल खराब करने वाले 150 यूजर्स को चिन्हित किया है। यह यूजर्स लगातार सोशल नेटवर्किग साइट्स पर धार्मिक पोस्ट और अन्य आपत्तिजनक वस्तुओं को साझा करने का लगातार कार्य कर रहे हैं। उनकी इस करतूत पर एसटीएफ की साइबर स्पेस मॉनिटरिंग सेल लंबे समय से नजर बनाए हुए है।

धार्मिक पोस्ट को दे रहे बढ़ावा

एसटीएफ में एएसपी और साइबर सेल नोडल ऑफिसर त्रिवेणी सिंह बताते हैं, "पूरे राज्य में 150 से अधिक ऐसे युवा हैं, जो कि सांप्रदायिक माहौल खराब करने का लगातार प्रयास कर रहे हैं। यह लोग फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्स ऐप पर समुदाय विशेष को उत्तेजित करने के लिए धार्मिक पोस्ट को बढ़ावा दे रहे हैं। यह सभी यूजर्स सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट पर टिप्पणी और शेयर कर प्रदेश का शांतिपूर्ण माहौल बिगाड़ने का प्रयास कर रहे हैं। इन यूजर्स की सभी गतिविधियों की निगरानी एसटीएफ की साइबर स्पेस सेल लगातार कर रही है।“

पहली बार इस तरह की कार्रवाई

उन्होंने कहा, “6 दिसंबर को बाबरी विध्वंस की 25वीं बरसी के मद्देनजर पिछले कुछ हफ्तों से साइबर सेल की निगरानी तेज हो गई थी, जिसमें यह 150 यूजर्स एक्टिव पाये गए। एसटीएफ ने इस सिलसिले में लखनऊ के बाजारखाला इलाके से विनीत अवस्थी उर्फ राजा को मंगलवार को एक आपत्तिजनक फेसबुक पोस्ट करने के लिए गिरफ्तार किया।“ सांप्रदायिक तनाव प्रदेश में न फैले, इसके लिए पहली बार एसटीएफ ने धार्मिक भावनाओं को भड़काने वालों के खिलाफ स्वयं संज्ञान लेकर कार्रवाई की है।

ब्लॉक कराया एकाउंट, मुकदमा दर्ज

त्रिवेणी सिंह आगे बताते हैं, “भविष्य में भी इस तरह के यूजर्स की गिरफ्तारी होगी, जिससे प्रदेश में सोशल मीडिया पर उन्माद फैलानों वालों पर अंकुश लगाया जा सके।“ सिंह ने कहा, ष्साइबर स्पेस मॉनिटरिंग सेल ने फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट देखकर संबंधित एकाउंट ब्लाक करवाया, जिसके बाद फेसबुक अकाउंट होल्डर के आईपी एड्रेस को ट्रैक कर आईपीसी सेक्शन 295-ए के तहत आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की। साथ ही धार्मिक भावनाओं को अपमानित करने और धर्म के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने के लिए 153-ए के तहत अपमानित करने का इरादा पाया गया।“

तैयार की गई है पूरी टीम

एएसपी त्रिवेणी सिंह ने कहा, “साइबर सेल कुछ अन्य लोगों पर निगरानी रखे हुए है, जो सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट को पसंद और टिप्पणी करते हैं। साथ ही कई अन्य फेसबुक अकाउंट्स, ट्विटर हेन्डल्स और लिंक्डइन पर एसटीएफ निगरानी रखे हुए है। इस कार्य को करने के लिए एसटीएफ साइबर स्पेस मॉनिटरिंग सेल में दो सीओ, पांच इंस्पेक्टर और 20 हेड कांस्टेबल हैं, जिनमें लखनऊ और नोएडा में कम से कम 27 सदस्य शामिल हैं। यह सभी लोग सोशल साइट्स पर निगरानी का काम पूरी निष्ठा और कर्मता से करते हैं।“

अपने झांसे में लेने का कर रहे हैं कार्य

एएसपी त्रिवेणी सिंह ने कहा, “साइबर स्पेस मॉनिटरिंग सेल प्रदेश में सोशल मीडिया पर आतंकवादी समूहों के कट्टरपंथ विचारधारा को पसंद करने वाले युवाओं की जानकारी दूसरी जांच एजेंसियों से साझा करने का भी कार्य करती है। क्योंकि ज्यादातर आतंकवादी संगठन ऑनलाइन गतिविधियों के जरिए ही युवाओं के अंदर जिहाद उत्पन्न कर उन्हें अपने झांसे में लेने का कार्य कर रहे हैं।“

यह भी पढ़ें: ई-रजिस्ट्री लगाएगी भष्ट्राचार पर अंकुश

जानिए, आधार कार्ड से जोड़ना कहां-कहां है जरूरी

किसी का घर ढूंढने के लिए बार-बार नहीं पड़ेगा पूछना, आधार की तर्ज पर अब हर घर का होगा यूनिक कोड

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top