यूपी विधानसभा की कार्यवाही स्थगित, धरने पर सपा व कांग्रेस के विधायक

यूपी विधानसभा की कार्यवाही  स्थगित, धरने पर सपा व कांग्रेस के विधायकतर प्रदेश की 17वीं विधानसभा के शीतकालीन सत्र का दूसरा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की 17वीं विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन की शुरुआत भी हंगामे के साथ हुई। विपक्ष के नेता राम गोविंद चौधरी और संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना के बीच बिजली के मुद्दे पर बहस हुई। विधानसभा की कार्यवाही आज पहले 12:20 बजे तक के लिए स्थगित की गई। इसके बाद भी जब हंगामा नहीं रुका तो फिर इसको सोमवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया।

पहले दिन गुरुवार को विधान परिषद के बाद ही विधानसभा में समाजवादी पार्टी के साथ ही बहुजन समाज पार्टी, कांग्रेस व राष्ट्रीय लोकदल ने बिजली की दरों को बढ़ाने के विरोध में हंगामा किया था। जिससे पहले दिन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई थी।

विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन की कार्यवाही हंगामे के साथ शुरू हुई। बिजली के बढ़े दामों पर नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने की चर्चा कराने की मांग की। शीतकालीन सत्र का आज दूसरा दिन है। कल ही योगी सरकार ने हंगामे के दौरान ही दो विधेयक को भी पेश कर दिया। जिनमें से एक विधेयक प्रयागराज मेला प्राधिकरण अध्यादेश और सहकारी समिति संशोधन अध्यादेश को पटल पर रखा गया था।

ये भी पढ़ें:- उत्तर प्रदेश विधानमंडल का शीतकालीन सत्र का पहला दिन हंगामे की भेंट चढ़ा

गुरुवार को विधानसभा अध्यक्ष ह्रदय नारायण दीक्षित ने जैसे ही सदन की कार्यवाही को शुरू की, विपक्ष ने विभिन्न मुद्दों पर सरकार को घेरने के प्रयास में जमकर हंगामा शुरू कर दिया था। काफी हंगामे के बाद विधानसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही को 15 मिनट के लिए स्थगित किया। इस स्थगन के बाद भी विपक्ष का हंगामा बरकरार रहा। हंगामा थमता न देखकर विधानसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही को आज तक के लिए स्थगित कर दिया था। आज भी सदन में हंगामे के आसार हैं।

सरकार के प्रवक्ता तथा स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि विपक्ष सदन को चलने नही दे रहा है। सुबह से ही दोनों सदन में हंगामा कर रहे हैं, जबकि भाजपा का हर नेता सकारात्मक जवाब देना चाहते है पर उनका नकरात्मक रवैया है।

ये भी पढ़ें:- संसद का शीतकालीन सत्र सार्थक होगा, प्रधानमंत्री मोदी को उम्मीद

Share it
Top