उन्नाव में आग से 40 बीघा फसल जलकर राख 

Shrivats AwasthiShrivats Awasthi   9 April 2017 7:48 PM GMT

उन्नाव में आग से 40 बीघा फसल जलकर राख गेहूं जली फसल।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

उन्नाव। आग लगने की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। रविवार को अलग-अलग थाना क्षेत्रों में फतेहपुर चौरासी, बारा सगवर, असोहा में एचटी लाइन टूटकर खेतों में गिरने से लगभग 18 बीघा फसल जलकर राख हो गई। वहीं मांखी थाना क्षेत्र में अज्ञात कारणों से एक घर में लगी आग से हजारों रुपए की सम्पति जलकर राख हो गई। ग्रामीणों व दमकल कर्मियों ने मौके पर पहुंच आग पर काबू पाया। ग्रामीणों के मुताबिक आग से लगभग 10 लाख रुपए से अधिक की फसल जलकर राख हो गई है।

असोहा थाना क्षेत्र के सेमरी गांव के किनारे नरसिंह बाबा के मंदिर के पास खेतों में दोपहर बाद अचानक आग की लपटे व धुआं देख ग्रामीण खेतों की तरफ दौड़ पड़े। वहां जाकर देखा तो लोहडी कांत के यूकेलिप्टस की बाग में आग लगी थी। ग्रामीण जब तक माजरा समझते तब तक बगल में सुघर सिंह के खेतों में आग लग गई और देखते ही देखते अगल बगल के खेतों व बागों को अपनी चपेट में ले लिया। ग्रामीण हांथों व पेड़ की टहनियों तथा बगल से निकली नदी से पानी ला लाकर आग बुझाने लगे। आग की ऊंची लपटें व धुआं देख कर अगल बगल के गांवों मंझरिया, नीमटीकर, शंकरखेड़ा, सेमरी आदि के ग्रामीण पहुंचकर आग पर काबू पाने का प्रयास करते रहे। 100 नंबर पुलिस व फायर बिग्रेड को सूचना दी गई। 100 नंबर पुलिस तो पहुंची मगर दमकल वाहन नहीं पहुंचे।

ग्रामीणों ने घंटों मशक्कत करके आग पर काबू पाया। तब तक राज किशोर त्रिवेदी की 5, महाबली 2, छेदीलाल 2, लछिमन का डेढ़ बीघा, रज्जन सिंह की यूके लिप्ट्स की बाग, शिवमंगल की बाग तथा कल्लू के यूके लिप्टस की बाग सहित लगभग 20 बीघे की खड़ी फसल जल कर राख हो गई। आग बुझाए जाने तक दमकल वाहन नही पहुंचे। प्रशासन का कोई अधिकारी मौके पर नही पहुंचा। इस भीषण आग में लाखों रुपए के नुकसान होने की संभावना बताई जा रही है। दूसरी घटना थाना क्षेत्र के गोसाई खेड़ा गांव के बाहर मुनेश्वर चौरसिया व जगेश्वर चौरसिया के खेतों के ऊपर से खेतों से गई एचटी लाइन में चिड़िया के फंस जाने से निकली चिंगारी से खेतों में आग लग गई। ग्रामीणों ने अपने संसाधनों से आग पर काबू पाया। दोनों लोगों के लगभग एक बीघे की फसल आग में जल कर राख हो गई।

दमकल पहुंचने से पहले 11 बीघा फसल जलकर राख

बीघापुर विकास खंड के ग्राम सभा गढ़ेवा के मजरे शहीदी खेड़ा में देवी पाल पुत्र ब्रजलाल, कृष्ण कुमार पुत्र राम शंकर, दिनेश पुत्र राम शंकर के खेतों में रविवार दोपहर आग लग जाने से खड़ी गेहूं की फसल जल गई। दमकल वाहन पहुंचने से पहले फसल जल चुकी थी। दूसरे खेतों में आग न पहंुचने पाए ग्रामीणों को काफी मशक्कत करनी पड़ी थी। पांडेयपुर के मजरे नरोत्तमपुर में धनीराम के ट्यूबवेल के लिए बिजली की लाइन गई थी। उसी का तार टूट जाने से खेतों में खड़ी गेहूं की फसल जलकर राख हो गई। सीताराम, सुनील, सुनीत, बच्चू, श्रीकृष्ण पुत्र ठाकुरदीन, चंद्र किशोर, राम लखन, राम रतन पुत्र भागीरथ आदि के खेत जले है। आग से लगभग दोनों ग्राम सभाओं में लगभग 11 बीघा फसल जलकर राख हो गई है।

स्पार्किंग से लगी आग से सात बीघा फसल जली

रविवार को फतेहपुर चौरासी थाना क्षेत्र के गांव बरुआघाट में बिजली के तारों की स्पार्किंग से निकली चिंगारी से आधा दर्जन किसानों की 7 बीघा गेहूं की फसल जलकर राख हो गई। दोपहर को तेज हवा में झूलते तारों में हुई स्पार्किंग से लगी आग से देशराज, रामकुमार, शिवनी, ज्ञानी पाल, राधे राठौर तथा संतोष पाल आदि की लगभग सात बीघा में पकी खड़ी गेहूं की फसल जलकर राख हो गई। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंचे दमकल कर्मियों ने आग पर काबू पाया।

गृहस्थी जलकर राख, दो मवेशी झुलसे

माखी थाना क्षेत्र के ग्राम सभा मेथीटीकुर के मजरा बंगला निवासी विशुना पत्नी अंगनू दोपहर में अपने फूस के छप्पर के नीचे लेटी हुई थी। तभी छप्पर में आग लग गई। आग की लपटें उठती देख ग्रामीणों ने निजी संसाधनों से आग बुझाई। मगर तब तक उसकी घर गृहस्थी का 5 हजार रुपए का सामान जल गया और उसके नीचे बंधे 2 मवेशी झुलस गए।

अग्निकांड पीड़ित किसान तहसीलदार को दें खाता नंबर

औरास। एचटी लाइन की चिंगारी से किसानों की जली सैकड़ों बीघा फसल का मुआवजा एक सप्ताह में मिलेगा। जिन किसानों की फसल जली है। वह किसान अपना खाता नंबर तहसीलदार को सोमवार को दें। थाना क्षेत्र औरास में 2 अप्रैल को सिधुर अर्सेना नई बस्ती गाँवों के किसानों की सैकड़ों बीघा फसल एचटी लाइन की चिंगारी से जल कर राख हो गई थी। जिससे किसानों को भारी क्षति हुई। मुआवजे के संबंध में अधिशाषी अभियंता एके दोहरे ने बताया कि तहसील से हमें अभी जली फसल का ब्योरा नही मिला है। प्रभावित हुए किसान अपना बैंक खाता नंबर सोमवार तक उपलब्ध करा दें। हम एक सप्ताह में मिलने वाले मुआवजे की धनराशि उनके खाते में भिजवा देंगे। किसानों को मुआवजे के रूप में प्रति बीघे कितनी धनराशि दी जाएगी। इसका ब्योरा तहसील के अधिकारी जो देंगे वह किसानों को मिलेगा। इस संबंध में जब हसनगंज तहसीलदार ने बताया कि मैंने एक दिन पहले चार्ज संभाला है। सोमवार को पूरी जानकारी दे दूंगा।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top