लखनऊ के पुलिस थानों में सड़ रहे 63 लाख रुपए

लखनऊ के पुलिस थानों में सड़ रहे 63 लाख रुपएलखनऊ के पुलिस थानों में सड़ रहे 63 लाख रुपए

लखनऊ। नोटबंदी के पूर्व अलग-अलग मामलों में जब्त किए कर लगभग 63 लाख रुपए लखनऊ के अलग-अलग थानों में सड़ रहे हैं । जबकि नोट बदलने की समय अवधि खत्म हो चुकी है।

यूपी पुलिस की लापरवाही की वजह से चोरी, डकैती, लूट-खसोट और जुए में जब्त किए हुए पैसे अलग-अलग थानों में सड़ रहा है। ये सभी नोट नोटबंदी से पहले जब्त किए गए थे। नोटबंदी की समय सीमा समाप्त हो जाने के बाद इन रुपए की अब कोई मूल्य नहीं रह गया है।

यह स्थिति तब है जब नोटबंदी के बाद प्रदेश के तत्कालीन डीजीपी जावीद अहमद ने एक आदेश पारित किया था कि थाने में जब्त पैसे जिनके पास से लुटे गए है उन्हें वापस करा दी जाए या बैंक में जमा करा दिया जाए। जावीद अहमद के आदेश के बावजूद भी पैसे थाने में सड़ रहे है।

प्रदेश के राजधानी इलाके के 32 थानों ने जब्त किए हुए 1 करोड़ 95 लाख रुपए के पुराने नोट बैंक में जमा करा दी थे, लेकिन 11 थानों के माल खाने में अब भी 63 लाख रुपए सड़ रहे है।

इस मसले पर लखनऊ की एसएसपी मंजिल सैनी ने थाने के एसओ और एसएचओ को ज़िम्मेदार बताया। हमने पुराने नोटों को जमा कराने के लिए आरबीआई से दिशा निर्देश मांगे हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top