‘हॉस्टल में अचानक बहुत लोग घुस आए और लाठियां चलाने लगे’

Devanshu Mani TiwariDevanshu Mani Tiwari   27 Sep 2017 9:15 AM GMT

‘हॉस्टल में अचानक बहुत लोग घुस आए और लाठियां चलाने लगे’बीएचयू में हुए लाठीचार्ज को अभी तक नहीं भुला पा रहीं छात्राएं। 

बनारस। बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में शनिवार रात को हुई घटना ने विश्वविद्यालय की छात्राओं को इस क़दर डरा दिया है कि उस रात जो भी हुआ छात्राएं उसे भुला नहीं पा रही हैं।

"थोड़ी देर में हम सब सोने ही जा रहे थे कि हॉस्टल गेट पर सेकंड ईयर और थर्ड ईयर के स्टूडेंट्स की चिल्लाने की आवाज़ आयी। नीचे पुलिसवाले स्टूडेंट्स को दौड़ा रहे थे।" बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में ज़ूलोजी सेकंड ईयर की छात्रा प्रथा बैनर्जी (22 वर्ष) ने बताया। बीएचयू में छात्रा के साथ हुई छेड़खानी के मामले में शनिवार को आंदोलन कर रही छात्राओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया था, जिसमें कई छात्र-छात्राएं घायल हो गए थे।

बीएचयू की छात्राओं ने सुनाई आपबीती।

"हॉस्टल के सिक्योरिटी गार्ड वहां पर थे, लेकिन फिर भी पुलिस वाले हॉस्टल में घुसते रहे, डंडे पड़ते रहे।" प्रथा आगे बताती हैं। मेडिकल साइंस में सेकंड ईयर की छात्रा पूजा सिंह (23 वर्ष) भी उस रात हुए लाठीचार्ज को अभी तक भुला नहीं पाई हैं। पूजा बताती हैं, “पुलिस हॉस्टल के अंदर घुसते ही डंडा मारने लगी, उन्होंने हमें हॉस्टल के अंदर भगाया तो जल्दबाज़ी में कई लड़कियां ज़मीन पर ही गिर गईं। कई लड़कियों के पैर में बहुत चोट लगी है।”

संबंधित खबर :- बीएचयू की कहानी 4 लड़कियों की जुबानी... ‘हां हम हर वक्त छेड़खानी की दहशत में जीते हैं’

देखें वीडियो...

कॉलेज की छात्राओं के साथ हुई घटना को लेकर गाँव कनेक्शन संवाददाता ने कस्तूरबा महिला हॉस्टल की वार्डन से भी जानकारी लेनी चाही पर उन्होंने कुछ कहने से मना कर दिया। बीएचयू के कस्तूरबा गर्ल्स हॉस्टल के सुरक्षाकर्मी लालचंद (40 वर्ष) ने बताया, "जैसे ही पुलिसवाले डंडा लेकर अंदर घुसे हम सभी उन्हें रोकने के लिए आगे आए थे, लेकिन वो बहुत ज़्यादा थे। लड़कियों को अंदर जाने के लिए बोला पर किसी ने भी नहीं सुना।"

मौजूदा समय में विश्वविद्यालय को दो अक्टूबर तक के लिए बंद कर दिया गया है। अधिकतर छात्राएं छुट्टी पर घर चली गईं हैं। मेडिकल की छात्राएं जिनकी ड्यूटी लगी हुई है, केवल उनके लिए विश्वविद्यालय खुला हुआ है। किसी अप्रिय घटना को रोकने के लिए कॉलेज के सभी हॉस्टल पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है।

मंगलवार को भी हुआ विरोध प्रदर्शन

बीएचयू में हुए छात्र-छात्राओं पर लाठीचार्ज के विरोध में मंगलवार को हरिश्चंद्र स्नातकोत्तर महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं के द्वारा मैदागिन चौराहे पर बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के कुलपति का पुतला दहन किया गया। विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्र संघ के महामंत्री शुभम कुमार ने बताया, "जिस तरह से लोकतांत्रिक ढंग से अपनी मागों को लेकर धरना दे रही छात्राओं पर आधी रात को पुलिस ने लाठीचार्ज किया। हम सब छात्र इसका कड़ा विरोध करते हैं।”

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top