गरीब बच्चों को पढ़ाकर उठा रहे उनका खर्च

Mohit SainiMohit Saini   18 Nov 2017 1:08 PM GMT

गरीब बच्चों को पढ़ाकर  उठा रहे उनका खर्चफोटो- गाँव कनेक्शन

बागपत। जिले का एक अध्यापक न सिर्फ गरीब बच्चों को पढ़ा रहे हैं, बल्कि बोर्ड की तैयारी कर रहे छात्रों का खर्चा भी उठा रहे हैं। समाजसेवा का कोई विशेष क्षेत्र या पैमाना नहीं होता, बागपत के एक शिक्षक अपने ज्ञान के प्रकाश से उन गरीबों की जिंदगी को रोशन कर रहे हैं, जो धनाभाव में आधुनिक शिक्षा से वंचित रह सकते थे।

बागपत के जैन मोहल्ला निवासी अध्यापक मयंक जैन (28 वर्ष) जहां आठ गरीब बच्चों की पढ़ाई का खुद ही खर्च वहन कर रहे हैं, वहीं गरीब बच्चों को निशुल्क कंप्यूटर व इंग्लिश स्पीकिंग के टिप्स भी दे रहे हैं।

ये भी पढ़ें-पैरालिसिस को हराकर गाँवों के गरीब बच्चों की जिंदगी रोशन कर रहे अनुराग

मयंक पिछले सात साल से बागपत के अलावा हमीदाबाद, मवीकलां, काठा गाँव के गरीब बच्चों को पढ़ा रहे हैँ। अभी भी मयंक की क्लास में 70 से अधिक बच्चे हैं, जो कंप्यूटर का प्रशिक्षण व अन्य टिप्स ले रहे हैँ। जिनमें से 40 से अधिक गरीब बच्चे नि:शुल्क शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। इस नेक कार्य के लिए मयंक को अब तक कई सामाजिक संस्थाएं सम्मानित कर चुकी हैं। मयंक न सिर्फ इन बच्चों को डिप्लोमा देते हैं बल्कि बागपत के आठ बच्चों की कक्षा 9 से लेकर 12 वीं तक की पढ़ाई का खर्च खुद मयंक वहन कर रहे हैं।

मयंक बताते हैं, “गरीब बच्चों की मदद करने में मुझे और मेरे परिवार को जो खुशी मिलती है, उसे शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता है। एक संत की प्रेरणा के बाद ही मैंने गरीब बच्चों की मदद करने का फैसला लिया था। मेरे परिवार के सभी सदस्य भी गरीब बच्चों की मदद करने में पूरी सहायता करते हैं।”

ये भी देखें-वीडियो : लॉस एंजेलिस का ये टीचर भारत में गरीब बच्चों को दे रहा मुफ्त शिक्षा

बुनकरों का अनोखा प्रयास : गरीब बच्चों को पढ़ाने की जिद थी, जहां जगह मिली वहीं शुरू की कोचिंग क्लास

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top