ट्रेन में एसिड पिलाने के मामले में जांच तेज 

ट्रेन में एसिड पिलाने के मामले में जांच तेज पीड़िता का केजीएमयू में चल रहा इलाज।

लखनऊ। रायबरेली से लखनऊ आ रही रजोली (बदला हुआ नाम) को एसिड पिलाने की घटना की जांच बहुत तेजी से हो रही है। इस मामले की जांच आईजी लखनऊ जोन ए सतीश गणेश कर रहे हैं।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

घटना के दूसरे दिन सूबे के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने अस्पताल पहुंचकर पीड़िता को एक लाख की मदद दी थी और डीजीपी को इस मामले में कार्रवाई के निर्देश दिए थे। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद पुलिस महकमा तेजी से मामले की जांच कर रहा है। पीिड़ता के आरोप के आधार पर पुलिस आरोपियों को पकड़ चुकी है।

रायबरेली के ऊंचाहार की रहने वाली पीड़िता रजोली का इलाज अभी केजीएमयू अस्पताल में चल रहा है। मामले की जांच कर रहे ऊंचाहार थाने के क्षेत्राधिकारी श्याम प्रकाश उपाध्याय ने बताया कि इस मामले की जांच बहुत सख्ती से की जा रही है। हम पीड़िता का पक्ष जानने के लिए आज आए थे, लेकिन अभी वो बोल नहीं पा रही है तो हम उनका पक्ष नहीं ले पाए।

पीड़िता के बयान के बाद जांच में और तेजी आएगी।’’रायबरेली के जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने गाँव कनेक्शन को बताया कि इस मामले को लेकर प्रशासन बेहद गंभीर है। हमने पीड़िता के परिवार को सुरक्षा दी है। पीड़िता को जल्द ही न्याय मिलेगा। होली में अपने घर रायबरेली गयी रजोली 23 मार्च को वापस ट्रेन से लखनऊ आ रही थीं, रास्ते में अपराधियों ने उन्हें तेज़ाब पिला दिया। रजोली का इलाज केजीएमयू अस्पताल में चल रहा है।

रायबरेली के एसएसपी अब्दुल हामिद ने बताया कि मामले की जांच की जिम्मेदारी हमने सीओ श्याम प्रकाश उपाध्याय को सौंपी है। हम जांच कर रहे हैं कि मामले में किस तरह की लापरवाही हुई है। लापरवाही करने वाले को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

एसिड पीड़िता की हालत में सुधार

दीपांशु मिश्रा, स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। रायबरेली से अपने परिवार से मिलकर 23 मार्च को लखनऊ वापस आ रही महिला को रस्ते में कुछ लोगों ने मिलकर तेज़ाब पिला दिया था, जिससे उस महिला की हालत बहुत ज्यादा खराब हो गयी थी। फिलहाल डाक्टरों का कहना है कि अब उस महिला की हालत में कुछ सुधार हुआ है।

मेडिकल कॉलेज के उप चिकित्सा अधीक्षक डॉ. वेद प्रकाश ने बताया, “महिला का इलाज चल रहा है। महिला ठीक है थोड़ा उसकी हालत में सुधार जरूर हुआ है। तेज़ाब का असर चेहरे के अलावा शरीर के अन्य हिस्सा पर भी हुआ है।’’ डॉ. वेद प्रकाश ने आगे बताया, “उम्मीद है कि महिला आगे जरूर बोलेगी। अभी थोड़ा-थोड़ा बोलने का प्रयास भी कर रही है और जल्द बोल भी पायेगी। अभी उस महिला को ठीक होने कुछ समय लगेगा। महिला के डिस्चार्ज के ऊपर अभी कुछ कहा नहीं जा सकता है।’’महिला के पति ने बताया, “हम उसे देखने गये थे ठीक तो लग रही है। अब वो कुछ-कुछ खाने लगी है। ज्यादा तो नहीं खा पाती है। कुछ-कुछ बोलने का भी प्रयास कर रही है, हमको लगता है वो बोल पायेगी। डॉक्टर भी हमसे यही बताएं है कि वो जल्दी ही सही हो जाएगी।’’

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top