तेजाब पीड़िता मामले में आरपीएफ के चार सिपाही बर्खास्त, आरपीएफ ने जारी किया वाट्सएप नंबर

तेजाब पीड़िता मामले में आरपीएफ के चार सिपाही बर्खास्त, आरपीएफ ने  जारी किया वाट्सएप नंबरआरपीएफ की पहल।

लखनऊ। गंगा गोमती एक्सप्रेस में ट्रेन एक महिला को तेजाब पिलाने के मामले में मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के हस्तक्षेप के बाद रेलवे ने बड़ी कार्रवाई अपने चार सिपाहियों को बर्खास्त कर दिया है। इस ट्रेन में आरपीएफ इस्कार्ट के रूप में तैनात इन सिपाहियों पर डयूटी के दौरान लापरवाही बरतने का आरोप लगा है। गांव कनेक्शन ने इस ख़बर को प्रमुखता से उठाया था।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ये सभी चाराबाग लखनऊ लोको में तैनात थे। जिसमें हेड कांस्टेबल बाबूलाल, कांस्टेबल अनिल कुमार, अशोक कुमार ओर मुनिंदर शामिल हैं। आरपीएफ डीजी हेमंत कुमार के आदेश के बाद इनके खिलाफ कार्रवाई की गई है।

घटना की खबर मिलते ही हरकत में आ गए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी।

अगर ट्रेन में सफर के दौरान कोई दिक्कत हो तो व्हाट्सएप नंबर 9454404444 परपब्लिक शिकायत और वीडियो भेज सकती है।
गोपाल गुप्ता, डीजी रेलवे

ऊंचाहार की रहने वालीतेजाब पीड़ित महिला शुक्रवार को ट्रेन से लखनऊ लोट रही थी। इसी दौरान ट्रेन के अंदर दो अज्ञात लोगों ने महिला को तेजाब पिला दिया। जिसके बाद उसकी स्थिति बिगड़ गई। इस घटना के समय ट्रेन से इस्कार्ट में तैनात आरपीएफ सिपाही नदारद थे। इस घटना की जानकारी मिलते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ योगी ने ट्रामा सेंटर जाकर महिला का हाल जाना और उसको एक लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी। साथ ही दोषियों पर कार्रवाई के लिए कड़े निर्देश भी दिए।

ये भी पढ़ें- शर्मनाक: तीन बार रेप, तीन बार एसिड अटैक और अब पिलाया तेजाब

इससे पहले मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी शुक्रवार को खुद केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर पहुंच गए। यहां उन्होंने एसिड पीड़िता को देखा और उसका हालचाल पूछा। एक लाख रुपए की मदद भी की। डीजीपी जावीद अहमद को निर्देश दिए कि जांच कर सख्त एक्शन करें। मुख्यमंत्री के ट्रामा सेंटर पहुंचने की घोषणा से अफसरों के बीच हड़कंप मच गया। यहां आते ही योगी सबसे पहले एसिड पीड़िता के परिवारीजनों से मिले। गाैरतलब है कि एसिड अटैक के इस मुद्दे को गाँव कनेक्शन ने आज के अंक में प्रमुखता से उठाया है।

ये भी पढ़ें- गाँव कनेक्शन की खबर का असर, एसिड पीड़िता को देखने ट्रामा सेंटर पहुंचे मुख्यमंत्री

एसिड अटैक का मामला गुरुवार का है। तीन बार दुष्कर्म, तीन बार तेजाब से हमला, इसके बाद भी पीड़िता की हिम्मत नहीं तोड़ पाए तो आरोपियों ने उसे ट्रेन में जबरन तेजाब पिला दिया था। पीड़िता इस समय जिंदगी और मौत के बीच केजीएमयू में जूझ रही है। आज दोपहर महिला कल्याण, परिवार कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी भी एसिड अटैक की पीड़िता से मिलने ट्रामा सेंटर पहुंचीं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top