जैविक खेती के ये हैं फायदे

Mo. AmilMo. Amil   7 Sep 2017 8:32 PM GMT

जैविक खेती के ये हैं फायदेकृषि कैम्प में किसानों ने जाने खेती के गुर। 

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

एटा। मारहरा विकासखंड के गांव सूरतपुर माफी में गाँव कनेक्शन फाउंडेशन द्वारा कृषि जागरूकता कैम्प का आयोजन किया गया। कैम्प में जिला कृषि विभाग के अधिकारी व नेटसर्फ कम्यूनिकेशन कम्पनी के कर्मचारियों ने किसानों को खेती से सम्बंधित जानकारियों से अवगत कराया। इस दौरान मौजूद किसानों ने गाँव कनेक्शन को अपनी समस्याओं से अवगत कराया।

कृषि कैम्प में कृषि विभाग के एसएमएस मोहर सिंह वर्मा ने किसानों को जानकारी देते हुए बताया, ‘‘किसानों को रसायन खेती से बचना चाहिए, जैविक खेती करने से बहुत फायदे हैं।”

ये भी पढ़ें- रायबरेली के लघु किसानों को समूह में खेती करने के लिए प्रेरित कर रहा कृषि विभाग

उन्होंने किसानों को जैविक खेती, प्रधानमंत्री किसान बीमा योजना, पारदर्शी किसान योजना, सोलर पम्प, उद्यान पशु पालन के बारे में विस्तार से बताया। किसानों को अपना पंजीकरण कराना अनिवार्य है, पंजीकरण पर सोलर पम्प चढवा लें, जब योजना आएगी तो किसानों को विभाग द्वारा अवगत करा दिया जाएगा, सोलर पम्प लगाने पर किसानों को सब्सिडी दी जाएगी।

कैम्प में मौजूद किसानों ने कृषि अधिकारियों के सामने खेती में होने वाली समस्याएं रखीं, किसान बलवीर सिंह(70वर्ष) ने बताया, ‘‘हमने प्रधानमंत्री फसल बीमा तो करा लिया लेकिन हमें आज तक कोई इसका लाभ नहीं मिला।”

यही समस्या किसान अनोखेलाल(72वर्ष) ने रखी इस पर कृषि विभाग से मारहरा ब्लाक के बीटीएम विनोद कुमार ने किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा की रसीद जल्द से जल्द उपलब्ध कराने की बात कही।

गोष्ठी में काफी संख्या में पहुंचे किसान।

ये भी पढ़ें- किसान गोष्ठी में बिजली, पानी, बीज को लेकर बोले किसान, डीएम दूर करने का दिया आदेश

फसल बीमा को लेकर किसान सुजान सिंह(65वर्ष) ने बताया, ‘‘हमने वर्ष 2015-16 में फसल बीमा कराया, हमारी फसल को नुकसान हुआ, हमने बैंकों के चक्कर लगाए, जिलाधिकारी से लेकर आरबीआई तक शिकायत की लेकिन कोई समाधान नही निकला। गाँव कनेक्शन फाउंडेश व कृषि विभाग द्वारा लगाए गए कृषि जागरूकता कैम्प में कृषि विभाग के एसएमएस मोहरसिंह वर्मा ने जैविक खाद व कीटनाशक दवा बनाने की जानकारी किसानों को बतायी

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top