भाजपा ने देश को नोटबंदी और जीएसटी में उलझा दिया : अखिलेश यादव  

भाजपा ने देश को नोटबंदी और जीएसटी में उलझा दिया : अखिलेश यादव  अखिलेश यादव 

लखनऊ। भाजपा सरकार की सच्चाई सामने आ गई है उसके बजट में जनता के हित में कुछ भी नहीं है। भाजपा ने नोटबंदी और जीएसटी में जनता को उलझा दिया है। जीएसटी व्यवस्था किसी की समझ में नहीं आ रही है। यह बड़े कारोबारियों के फायदे के लिए है। किसान की कर्जमाफी भी भूलभुलैया की भेंट चढ़ जाएगी। यह किसान के साथ धोखा हैं। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गुरूवार को बीजेपी पर हमला बोलते हुए कार्यकर्ताओं को साल 2019 के चुनाव के लिए तैयार रहने का आदेश दिया है।

ये भी पढ़ें- बाढ़ क्षेत्रों में लापरवाही हुई तो अधिकारियों पर होगी कार्रवाई - धर्मपाल सिंह

विक्रमादित्य मार्ग स्थित समाजवादी पार्टी मुख्यालय, लखनऊ में बड़ी संख्या में आए कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा बीजेपी की सरकार में समाजवादी सरकार की जनहित की योजनाएं बंद कर दी गई हैं। ऐसा लगता है कि अब भाजपा सरकार "मंत्र" से ही सभी समस्याओं का समाधान कर देंगी। अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा का उद्देश्य वोट के लिए नफरत फैलाना है। उसके झूठ फैलाने से लड़ाई है। यह बड़ी लड़ाई है। भाजपा ने दिवाली और रमजान, शमसान और कब्रिस्तान के सवाल उठाकर जनता को भ्रमित किया। गरीब लोगों को उजाड़ा जा रहा है। भाजपा गरीबों के विरूद्ध है बदले की भावना से राज्य सरकार काम कर रही है। उससे विकास की उम्मीद नहीं।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा राज में अपराध बेतहाशा बढ़े हैं। अपराध नियंत्रण का दावा करने वाले मुख्यमंत्री जी को बताना चाहिए कि उनकी सरकार ने कितने बड़े अपराधियों, भूमाफियाओं और भ्रष्टाचारियों को पकड़ा है। कितने अपराधी जेल में है और कितने प्रदेश छोड़कर चले गए? सच यह है कि अपराधी बेखौफ है, पुलिस का मनोबल गिरा हुआ है और कानून व्यवस्था की स्थिति नियंत्रण के बाहर है।

ये भी पढ़ें- साइकिल ट्रैक ध्वस्त करना बीजेपी को भारी पड़ेगा: सपा

अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी सरकार में महिलाओं की सुरक्षा के लिए 1090 सेवा की शुरूआत की थी। वृक्षारोण का रिकार्ड समाजवादी सरकार में बना था। समाजवादी पार्टी की सरकार में बिना केंद्र सरकार की मदद के सड़के बनाई गई थी। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे जैसी सड़क देश में नहीं है। 300 किलोमीटर सड़क दो वर्ष में बनाई गई थी जबकि लंदन में भी 6 लेन की 120 किमी सड़क 6 वर्ष में बनी थी। उन्होंने कहा कि प्रदेश की विकास दर 6 प्रतिशत बताई गई जबकि देश की तरक्की में मुस्लिमों के सहयोग को हटा दे तो विकासदर 2 प्रतिशत ही रह जाएगी। समाजवादी पेंशन बड़ी योजना थी। इसे बंद कर दिया गया। लोक कल्याणकारी योजनाओं से भाजपा सरकार इसलिए चिढ़ रही है कि उनसे "समाजवादी" शब्द जुड़ा था। झाड़ू़ समस्या नहीं है, कूड़ा ही स्थायी समस्या है। भाजपा लोकतंत्र को कमजोर करने में लगी है।

अखिलेश यादव ने सभी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे 2019 के चुनाव की तैयारियां अभी से शुरू करें। उन्होंने कहा है कि उत्तर प्रदेश की तरक्की बड़े कामों से होगी। भाजपा का बड़ा दृष्टिकोण नहीं है। भाजपा प्रदेश की समस्याओं से आंख बंद करने का ढोंग कर रही है। उसे आंख खोलकर देखने की आदत डालनी चाहिए। समाजवादी सरकार के विकास कार्यों की अनदेखी नहीं की जा सकती है। उन्होंने जनता का आह्वान किया है कि वह भाजपा के बहकावे में नहीं आए। इस अवसर पर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष से सैकड़ों लोगों ने मिलकर अपनी समस्याएं बताईं। अपने साथ उत्पीड़न की शिकायतें लेकर आए कई लोगों ने भाजपा सरकार के उपेक्षापूर्ण रवैया की भी चर्चा थी। बिगड़ती कानून व्यवस्था पर महिलाओं ने बताया कि उन्हें अपमानजनक स्थिति से गुजरना पड़ रहा है। अखिलेश यादव से मिलने आए गोरखपुर के दर्जनों लोगों ने कहा कि समाजवादी सरकार के मुकाबले भाजपा सरकार की कोई जनहितकारी योजना नहीं है। अब सभी लोग कहने लगे हैं कि भाजपा से अच्छी तो समाजवादी सरकार थी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिएयहांक्लिक करें।

Share it
Top