निकाय चुनाव पर अखिलेश बोले, हमारा काम ही हमारा प्रचार है 

निकाय चुनाव पर  अखिलेश बोले, हमारा काम ही हमारा प्रचार है पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

कन्नौज। सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि जिस तरह सरकार आलू और गन्ना पर असफल है उसी तरह नौकरी देने में भी असफल है। आठ महीने की भाजपा सरकार ने कोई काम नहीं किया है। इसलिए पूरा नेतृत्व चुनाव प्रचार में लगा है। हमारा काम ही चुनाव प्रचार है।

ये भी पढ़ें: दोगुना खर्च कर सकेंगे पार्षद, यूपी नगर निकाय चुनाव को लेकर अधिसूचना जारी

मंगलवार को दोपहर निजी कार्यक्रम में शामिल होने इत्रनगरी आए पूर्व मुख्यमंत्री ने जिला पार्टी कार्यालय में पत्रकार वार्ता के दौरान कहा, ‘‘आठ महीने की सरकार में जनता कहने लगी है कि समाजवादी सरकार ने काम किया था। भाजपा सरकार ने पूरे प्रदेष में अगर कोई बड़ा फैसला लिया हो तो बता दो।’’ उन्होंने आगे कहा कि ‘‘सबसे पहले सरकार ने यह कहा आलू किसानों को राहत देंगे। 400 करोड़ से ज्यादा का पैकेज दिया था, लेकिन आज कोल्ड स्टोरेज में आलू उठाने वाला कोई नहीं है। किसानों को कीमत और भुगतान नहीं मिला है तो वह तकलीफ में है। मजदूर को मजदूरी नहीं मिल रही है वर्तमान सरकार ने यह संकट पैदा किया है।’’

पूर्व मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि ‘‘बीजेपी के लोगों को यही तकलीफ थी कि यहां बिजली क्यों अधिक आती है, कन्नौज ही नहीं पूरा प्रदेश वीआईपी था। शहरों को 24 घंटे बिजली पहुंचाने का काम हमने किया है।’’ कन्नौज हमारा लोकसभा ही नहीं लोहियाजी और नेताजी का क्षेत्र रहा है। यहां इंजीनियरिंग कॉलेज, मेडिकल कॉलेज, एक्सप्रेस-वे और मंडियां बन रही थीं। यह सब यहां की जनता के लिए था। हमारे लिए नहीं था।

ये भी पढ़ें: त्योहारों और नगर निकाय चुनावों के मद्देनजर मुख्यमंत्री ने दिये सख्त सुरक्षा के निर्देश

यूपी की आठ महीने की सरकार काम नहीं बता पा रही। इसलिए पूरा नेतृत्व चुनाव में लगा है। हमे कोई विषेश प्रचार की जरूरत नहीं। जनता हमारी मदद करेगी। रूके हुए काम उन्होंने कहा कि ‘‘विपक्ष की जिम्मेदारी है समय पर सरकार को जगाएं। समाजवादी सरकार में कराए गए कार्य मेरे लिए नहीं जनता के लिए था। काम पूरे होने चाहिए।’’

एक हजार एकड़ में गाय की सेवा का स्थान बनाएं

आवारा पशुओं की समस्या पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा, ‘‘बीजेपी कुछ इंतजाम करें। गाय और गोबर से बहुत लगाव है तो कन्नौज में एक हजार एकड़ में गाय की सेवा के लिए स्थान बनाएं। जिसे देखने के लिए दूर-दूर से लोग आएं। जानवरों के जो लगने बंद हो गए हैं उनको सराकर शुरू कराए। कन्नौज में जो गाय के दूध का कारखाना लगा है वह भी बंद हो गया है। जब सरकार को गाय के दूध से नफरत है तो गाय कैसे बचाएंगे।

मंदिर मुद्दा की बजाय किसानों को सुविधाएं दें

चुनाव के दौरान ही मंदिर मुद्दा अलापने के सवाल पर सपा मुखिया अखिलेष ने कहा कि ‘‘इसकी बजाय अगर किसानों का भला करें, मेडिकल कॉलेज में सुविधाएं बेहतर करें तो ठीक रहेगा। बूचड़खाने कौन से बंद कराए यह भी बताएं। वैध और अवैध की बात ही नहीं थी। बाहर जाने वाला एक्सपोर्ट है उस पर पूरे देश में रोक लगाए सरकार।’’

गडकरी झूठ बोले तो बीजेपी पर भरोसा कौन करें

‘‘तीन साल पहले गडकरी जी से मिला था। कहा था कि लोकसभा क्षेत्र पत्नी डिम्पल का है। जीटी रोड फोरलेन और सिक्सलेन बना दो। उन्होंने वादा भी किया था। उस वादे पर गडकरी खरे नहीं उतरे तो बीजेपी वालों से उम्मीद कौन करता है।’’ अखिलेष यादव ने आगे कहा, ‘‘हमारी पार्टी पिछली बार से ज्यादा सीटें जीतेगी। पूरे प्रदेष में साइकिल चिन्ह पर चुनाव लड़ा जा रहा है।’’ कन्नौज से डिंपल के लोकसभा चुनाव न लड़ाने के सवाल पर कहा, ‘‘परिवारवाद की बड़ी चिंता है बीजेपी को लेकिन परिवारवाद ही कर रहे बीजेपी के लोग।’’ शौचालय बनने के सवाल पर कहा कि ‘‘बन रहे हैं लेकिन शौचालय में जा कोई नहीं रहा है। अब तो एक्सप्रेस-वे पर बीजेपी के लोग भी चलने लगे हैं।’’

Share it
Top