उत्तर प्रदेश

आज से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ विभागों की लगाएंगे क्लास

लखनऊ। प्रधानमंत्री बनने के बाद जिस तरह नरेन्द्र मोदी ने केन्द्र सरकार के विभिन्न विभागों को अपनी योजनाओं के प्रजेंटेशन देने का आदेश दिया था। उसी की तर्ज पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी सभी विभागों का प्रजेंटेशन लेने जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री बनने के बाद ही आदित्यनाथ ने सभी विभागों के मंत्रियों और सचिवों को अपने-अपने विभाग की भावी योजनाओं का प्रजेंटेशन तैयार करने का निर्देश जारी किया था, जिसके बाद तीन अप्रैल से मुख्यमंत्री विभागवार प्रजेंटेशन देखने जा रहे हैं।

पहले दिन यानी तीन अप्रैल को शिक्षा विभाग के अफसर अपना प्रजेंटेशन देंगे। इसके बाद छह अप्रैल को औद्योगिक विभाग का प्रजेंटेशन देना है। सात अप्रैल को कृषि विभाग, आठ अप्रैल को लोक निर्माण विभाग, 10 अप्रैल को समाज कल्याण विभाग, 12 अप्रैल को सचिवालय प्रशासन, 13 अप्रैल को पंचायतीराज, 15 अप्रैल को स्वास्थ्य विभाग, 18 अप्रैल को आबकारी और खनन विभाग, 19 अप्रैल को गृह और सर्तकता विभाग और 20 अप्रैल को संस्कृति, पर्यटन विभाग को अपना प्रजेंटेशन मुख्यमंत्री के सामने देना होगा।

सभी विभागों को हिन्दी में मजबूत पावर पॉइंट प्रजेंटेशन के लिए निर्देश दिया गया है जिसके बाद स्थिति यह है कि सभी विभागों के अधिकारी और कर्मचारी प्रजेंटेशन तैयार करने में लगे हुए हैं। सचिवों के स्तर पर विभागों की समीक्षा करके विभाग की उपलब्धियों की भी जानकारी खंगाली जा रही है।