इलाहाबाद हाईकोर्ट की 150वीं सालगिरह के समापन समारोह में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बोले, कानून सिर्फ अमीरों का नहीं

इलाहाबाद हाईकोर्ट  की 150वीं सालगिरह के समापन समारोह में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बोले, कानून सिर्फ अमीरों का नहींइलाहाबाद हाईकोर्ट के 150 वर्ष पूर्ण होने पर सालभर से चल रहे कार्यक्रम के समापन समारोह में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी।

इलाहाबाद (भाषा)। इलाहाबाद हाईकोर्ट के 150 वर्ष पूर्ण होने पर सालभर से चल रहे कार्यक्रम के समापन समारोह में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज ने कहा कि समारोह में शामिल होना गौरव की बात है। कानून सबके लिए बराबर होना चाहिए, कानून सिर्फ अमीरों का नहीं है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत के प्रधान न्यायाधीश जे एस खेहर को आश्वासन दिया कि सरकार न्यायपालिका पर बोझ कम करने और लंबित मामलों को निपटाने के उनके संकल्प का समर्थन करने के लिए हरसंभव प्रयास करेगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने न्यायपालिका, सरकार और लोगों से देश को नई उंचाईयों पर ले जाने के लिए 2022 का लक्ष्य निर्धारित करने के लिए कहा। वर्ष 2022 में आजादी के 75 वर्ष हो जाएंगे।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नेकहा कि 2022 के लिए संकल्प तय करें। देश के लोगों पर कानून का बोझ है। मोदी ने कहा कि अब तक हम 1200 कानून खत्म कर चुके हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि जेल और कोर्ट को जोड़ने से फायदा होगा। उन्होंने कहा कि एसएमएस से मुकदमों की तारीख मिले। मोबाइल से कोर्ट की तारीख मिले। मोदी ने का इलाहाबाद हाईकोर्ट न्याय का तीर्थ क्षेत्र है। कानून लक्ष्य सबका कल्याण है।

उत्तर प्रदेश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का विमान सुबह 10 बजे इलाहाबाद शहर से बाहर स्थित बमरौली हवाईअड्डा पर उतरा जहां उनकी आगवानी उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने की।

इसके बाद, प्रधानमंत्री वहां से सीधे उच्च न्यायालय परिसर के लिए रवाना हुए। इस समारोह में भारत के प्रधान न्यायाधीश जेएस खेहर और कानून एवं न्याय मंत्री रविशंकर प्रसाद और उच्चतम न्यायालय के कई न्यायाधीश एवं विभिन्न उच्च न्यायालयों के न्यायाधीश शामिल हुए हैं।

Share it
Share it
Share it
Top