पीएम के क्षेत्र में छात्राओं ने चक्का जामकर काटा हंगामा

पीएम के क्षेत्र में छात्राओं ने चक्का जामकर काटा  हंगामाधरने पर बैठी छात्र

वाराणसी। जिला मुख्यालय से करीब 12 किमी दूर भिखारीपुर चौराहे पर शुक्रवार को एपेक्स कॉलेज ऑफ नर्सिंग की छात्राओं ने जमकर हंगामा काटा और चक्का जामकर विरोध प्रदर्शन किया। कॉलेज द्वारा परीक्षा न कराए जाने और मान्यता नहीं होने के बावजूद नर्सिंग की पढ़ाई को लेकर छात्राओं में नाराजगी है। पीडि़तों का कहना है कि वह अपना पैसा लिए बगैर नहीं हटेंगे।

सीओ भेलूपुर राजेश श्रीवास्तव ने बताया कि एपेक्स कालेज के मामले में सुंदरपुर चौकी इंचार्ज रमेश यादव के नेतृत्व में एक टीम गठित कर विवेचना कराई जा रही है। टीम शनिवार को दिल्ली के लिए रवाना होगी। सोमवार को मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया में जाकर यह पता करेगी कि एपेक्स कालेज को मान्यता है या नहीं। अगर मान्यता नहीं हुई तो कालेज प्रबंधन के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। उधर, कालेज के गेट पर धरनारत छात्राएं किसी को भी अंदर नहीं जाने दे रही हैं। छात्राओं ने फीस वापसी के लिए हाईकोर्ट में याचिका दाखिल करने की बात कही। फिलहाल मौके पर पीएसी तैनात की गई है।

फीस वापसी की मांग पर अड़े छात्राएं

छात्राओं का कहना है कि वह अपना पैसा लिए बगैर नहीं हटेंगे। प्रदर्शनकारी छात्राएं बुधवार से कालेज प्रशासन के खिलाफ विरोध कर रही हैं। इसके पहले भी छात्राएं प्रदर्शन कर चुकी हैं और लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर मामले से अवगत कराया था।

मान्यता नहीं होने का आरटीआई से हुआ खुलासा

आरटीआई के जरिए छात्राओं को जैसे ही पता चला कि कालेज को नर्सिंग की मान्यता ही नहीं है तो वे फिर से लामबंध होकर कालेज प्रबंधन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। गुरुवार को भी छात्राओं के हंगामा करने पर लंका पुलिस और एडीएम सिटी मौके पर पहुंचे। अधिकारियों से छात्राओं ने बताया कि आरटीआई के तहत मिली जानकारी में स्पष्ट शब्दों में इंडियन नर्सिंग कौंसिल ने बताया कि एपेक्स कालेज को मान्यता नहीं दी गई है।

गाँव से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top