उन्नाव में आग से बचाव के लिए जागरूकता रैली आज

गाँव कनेक्शनगाँव कनेक्शन   15 April 2017 10:11 AM GMT

उन्नाव में आग से बचाव के लिए जागरूकता रैली आजगर्मी का प्रकोप बढ़ते ही आगजनी की घटनाओं में दिन पर दिन बढ़ोत्तरी हो रही है।

दीप कृष्ण शुक्ला, स्वयं कम्यूनिटी जर्नलिस्ट

उन्नाव। फायर ब्रिगेड के पुलिस जवानों ने 14 अप्रैल 1946 की घटना में शहीद हुए 66 जवानों की स्मृति में श्रद्धांजलि सभा की। जवानों को श्रद्धासुमन अर्पित करने के बाद जवानों ने लोगो को आग से बचाव के तरीके बताये।

शहर के मोहल्ला अचलगंज तिराहे पर स्थित फायर स्टेशन पर अग्निशमन सेवा स्मृति दिवस पर श्रद्धांजलि सभा हुई। 14 अप्रैल 1946 के दिन मुंबई बंदरगाह पर रुई से लदे एक मालवाहक जहाज में आग लग गई थी। इस दौरान आग पर काबू पाने की कोशिश में फायर ब्रिगेड पुलिस के 66 जवान शहीद हो गए थे। शहीद जवानों की स्मृति में प्रभारी सुरेन्द्र सिंह के नेतृत्व में कर्मियों ने 2 मिनट का मौन रख श्रद्धासुमन अर्पित किए।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

सिंह ने बताया कि आम जनमानस को आग पर काबू पाने व आग से बचाव के तरीके बताने का प्रचार प्रसार शुरू कर दिया गया है। जिससे आग की घटनाओं पर अंकुश लग सके। उन्होंने कहा कि बचाव के तरीके सब तक पहुंच सके। इसके लिए सार्वजनिक स्थानों पर पोस्टर चस्पा किए जा रहे है। इसके अलावा समस्त थानाध्यक्षों को पोस्टर भेज दिए गए है। जिसे वह अपने क्षेत्र में वितरण कराकर जनता को जागरुक करने में मदद करें।

शहरीय क्षेत्र में निकलेगी जागरुकता रैली

गर्मी का प्रकोप बढ़ते ही आगजनी की घटनाओं में दिन पर दिन बढ़ोत्तरी हो रही है। जिस पर अंकुश लगाने के लिए फायर ब्रिगेड ने आग से बचाव के तरीके बताने का प्रचार प्रसार तेजी से शुरू कर दिया है। आम जनमानस को जागरुक करने के लिए फायर ब्रिगेड कार्यालय से शनिवार को सुबह 9.30 बजे जागरुकता रैली निकाली जाएगी। यह जानकारी प्रभारी सुरेन्द्र सिंह ने दी है। अग्नि सुरक्षा सप्ताह 20 अप्रैल तक चलेगा।

नगर क्षेत्र के लिए अग्नि सुरक्षा उपाय

1-बिना बुझाए हुए बीडी सिगरेट के टुकड़ों को लापरवाही से इधर उधर मत फेंकिए।

2-दियासिलाई अबोध बालकों की पहुंच से बाहर रखिए।

3-भोजन बनाने के पश्चात चूल्हे के ईधन को पूर्ण रूप से बुझा दें।

4-भोजन बनाते समय अपने शरीर के कपड़ों का प्रयोग चूल्हे पर चढ़े बर्तनों को उतारने में न करें।

5-जलते हुए स्टोव व लालटेन में मिट्टी का तेल न भरें।

6-घर में बिजली के कटे-फटे तारों को तुरंत बदलवा दें या मरम्मत करा लें।

7-कुकिंग गैस सिलेंडर में तनिक भी लीकेज का आभास होते ही पास पडोस की अन्य अंगीठियों व जलती हुई बीडी सिगरेट को तुरंत बुझा दें।

8-रात में सोने से पहले गैस सिलेंडर व बल्ब बंद करना न भूलिए।

9-गैस का रबड़ पाइप अधिक पुरानी होने पर इसे बदलवा दें।

10-गैस का सिलेंडर सदैव खड़ा रखिए।

ग्रामीण क्षेत्र के लिए अग्नि सुरक्षा के उपाय

1-हुक्का पीने के पश्चात चिलम की आग को पूर्ण रूप से बुझा कर छोड़िए।

2-जलते हुए बचे बीडी के टुकड़े को पैर से कुचलकर तथा पूर्ण रूप से बुझाकर फेंकिए।

3-खलिहान, तालाब के निकट या अन्य पानी के साधनों के निकट स्थापित कीजिए।

4-खलिहान के चारों ओर पानी के भरे घड़े व मिट्टी के ढेर उपलब्ध रखिए।

5-चिराग का प्रयोग करने के पश्चात पूर्ण रूप से बुझा दीजिए।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top